Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

डेटिंग ग्रुप पर नौकरी दिलवाने का झांसा देकर लाखों की ठगी, ऐसे दिया वारदात को अंजाम

देश की राजधानी दिल्ली (Delhi News) में लोगों के साथ ठगी के मामले बढ़ते जा रहे हैं। अभी ताजा मामला बुराड़ी थाने से सामने आया है। यहां पर डेटिंग ग्रुप (Dating Group) पर नौकरी दिलवाने का झांसा देकर ये लोग ठगी (Crime) की वारदात को अंजाम देते थे।

डेटिंग ग्रुप पर नौकरी दिलवाने का झांसा देकर लाखों की ठगी, ऐसे दिया वारदात को अंजाम
X

डेटिंग ग्रुप पर नौकरी दिलवाने का झांसा देकर लाखों की ठगी

देश की राजधानी दिल्ली (Delhi News) में लोगों के साथ ठगी के मामले बढ़ते जा रहे हैं। अभी ताजा मामला बुराड़ी थाने से सामने आया है। यहां पर डेटिंग ग्रुप (Dating Group) पर नौकरी दिलवाने का झांसा देकर ये लोग ठगी (Crime) की वारदात को अंजाम देते थे। बुराड़ी पुलिस ने ऐसी वारदात को अंजाम देने वालेे दो आरोपियों को उत्तरी दिल्ली से गिरफ्तार (Arrest) किया है। आरोपी की पहचान शिवांशु उर्फ बब्बू (22) और मो. इमरान खान उर्फ शाहबाज खान उर्फ अभिषेक सिंह (25) के रूप में हुई है। वहीं पुलिस (Delhi police) अन्य आरोपियों की तलाश भी कर रही है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पुलिस ने आरोपियों के पास से वारदात में इस्तेमाल दो मोबाइल फोन, सिमकार्ड व एक डेबिट कार्ड बरामद किया है। मामले में एक आरोपी हरप्रीत सिंह को पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी थी। आरोपियों तक पहुंचने के लिए पुलिस टीम ने 50 मोबाइल नंबरों की गहन जांच की। पुलिस पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ कर मामले की छानबीन कर रही है। बता दें कि उत्तरी जिला पुलिस उपायुक्त सागर सिंह कलसी ने बताया कि फरवरी 2019 में बुराड़ी निवासी एक युवक ने डेटिंग ग्रुप पर नौकरी दिलवाने के नाम पर ठगी की शिकायत बुराड़ी थाना पुलिस से की थी। पीडि़त ने बताया कि पीडि़त के मोबाइल पर बॉबी कुमार नामक एक शख्स का कॉल आया। आरोपी ने डेटिंग ग्रुप पर नौकरी दिलवाने का झांसा दिया।

ऐसे बनाते थे लोगों को निशाना

बता दें कि आरोपी पहले रजिस्ट्रेशन के नाम पर रुपये जमा करवाते थे। उसके बाद डिमांड बढ़ती चली जाती थी। ऐसे ही धीरे-धीरे आरोपियों ने पीडि़त से करीब 4.50 लाख रुपये ऐंठ लिए। पुलिस ने मामला दर्ज कर छानबीन शुरू की। तो टेक्निकल सर्विलांस की मदद से उसी समय एक आरोपी हरप्रीत को नैनीताल, उत्तराखंड से दबोच लिया। उसके खाते में एक लाख रुपये ट्रांसफर हुए थे। उसके पास से रकम भी बरामद हो गई। लेकिन आरोपी अंडरग्राउंड हो गए। पुलिस भी लगातार आरोपियों की तलाश करते रहे। पुलिस की टीम ने डेटिंग ग्रुप के 50 से अधिक मोबाइल नंबरों की जांच की तो पता चला कि पुराने नंबर दोबारा से एक्टिव थे।

बाकी आरोपियों की तलाश जारी

वहीं उसके आधार पर पहले पुलिस ने निहाल विहार से शिवांशु उर्फ बब्बू और बाद में किराड़ी, सुलेमान नगर निवासी इमरान को दबोच लिया। दोनों के पास से वारदात में इस्तेमाल मोबाइल फोन भी बरामद हुए। आरोपी नई उम्र के लड़कों को डेटिंग ग्रुप में जोड़कर नौकरी दिलवाने का झांसा देते थे। पुलिस गैंग के बाकी सदस्यों की तलाश कर रही है। बीच में आरोपी अंडरग्राउंड हो गए थे। जब आरोपियों को लगा कि पुलिस ने उनसे निगाह हटा ली है तो आरोपियों ने दोबारा से ठगी का धंधा शुरू कर दिया था। पुलिस इनसे पूछताछ कर पता करने का प्रयास कर रही है कि अब तक आरोपियों ने कितने लोगों को चूना लगाया।

Next Story