Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

तिहाड़ जेल में भूख हड़ताल पर बैठा यासीन मलिक, कहा- मेरे मामले की...

कश्मीर के अलगाववादी नेता यासीन मलिक (Separatist leader Yasin Malik) शुक्रवार से दिल्ली की तिहाड़ जेल (Tihar Jail) में भूख हड़ताल पर हैं। जानकारी के मुताबिक उन्होंने आरोप लगाया है कि उनके खिलाफ चल रहे विचारधीन मामले की ठीक से जांच नहीं हो रही है।

तिहाड़ जेल में भूख हड़ताल पर बैठा यासीन मलिक, कहा- मेरे मामले की...
X

कश्मीर के अलगाववादी नेता यासीन मलिक (Separatist leader Yasin Malik) शुक्रवार से दिल्ली की तिहाड़ जेल (Tihar Jail) में भूख हड़ताल पर हैं। जानकारी के मुताबिक, उन्होंने आरोप लगाया है कि उनके खिलाफ चल रहे विचारधीन मामले की ठीक से जांच नहीं हो रही है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार यासीन मलिक की मांग है कि उनके खिलाफ चल रहे मामले की सही तरीके से जांच की जाए।

इसके चलते वह अनशन पर बैठ गया है। उल्लेखनीय है कि यासीन मलिक ने भूख हड़ताल की जानकारी जेल प्रशासन को पहले ही दे दी थी। धरना शुरू करने के बाद जेल प्रशासन ने उन्हें समझाने का प्रयास किया। हालांकि वह अपनी मांग पर अड़ा हुआ हैं। जेल प्रशासन (Jail Administration) ने इस संबंध में सरकारी एजेंसियों को जानकारी दी है।

टेरर फंडिंग के दोषी यासीन मलिक को कश्मीर में आतंकवादी और अलगाववादी गतिविधियों के लिए उम्रकैद की सजा सुनाई गई है। इस साल मई में दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट (Patiala House Court) के विशेष एनआईए न्यायाधीश प्रवीण सिंह ने यासीन मलिक को गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनियम (यूएपीए) और भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की विभिन्न धाराओं के तहत आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी। इसके अलावा उन पर विभिन्न धाराओं के तहत 10 लाख 75 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया गया था।

बता दें यासीन मलिक 90 के दशक में कश्मीरी पंडितों (Kashmiri Pandits) की हत्या का मास्टरमाइंड है। इसके अलावा उस पर 1990 में वायुसेना के 4 जवानों की हत्या का भी आरोप है। वायुसेना के जवानों (Air Force personnel) पर हमला 25 जनवरी 1990 को हुआ था, जब जवान श्रीनगर में एयरपोर्ट जाने के लिए बस का इंतजार कर रहे थे। इस हमले में स्क्वाड्रन लीडर रवि खन्ना समेत चार जवान शहीद हो गए थे, जबकि 40 लोग घायल हो गए थे।

और पढ़ें
Next Story