Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Russia Ukraine War : 219 भारतीयों को लेकर हंगरी से दिल्ली पहुंची स्पेशल फ्लाइट, केंद्रीय मंत्री ने कही ये बड़ी बात

रूस (Russia) और यूक्रेन (Ukraine) के बीच चल रहे युद्ध के दौरान फंसे 219 भारतीय नागरिकों (219 Indian Nationals) को लेकर हंगरी से एक स्पेशल फ्लाइट (Special Flight) शुक्रवार सुबह दिल्ली एयरपोर्ट पर पहुंची।

Russia Ukraine War : 219 भारतीयों को लेकर हंगरी से दिल्ली पहुंची स्पेशल फ्लाइट, केंद्रीय मंत्री ने कही ये बड़ी बात
X

रूस (Russia) और यूक्रेन (Ukraine) के बीच चल रहे युद्ध के दौरान फंसे 219 भारतीय नागरिकों (219 Indian Nationals) को लेकर हंगरी से एक स्पेशल फ्लाइट (Special Flight) शुक्रवार सुबह दिल्ली एयरपोर्ट पर पहुंची। ऑपरेशन गंगा ( Operation Ganga) के तहत इंडिगो (Indigo) की विशेष फ्लाइट गुरुवार को हंगरी की राजधानी बुडापेस्ट से रवाना हुई थी।

गृह राज्य मंत्री निसिथ प्रमाणिक ने इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे ( Indira Gandhi International Airport) पर भारतीय छात्रों (Indian Students) के आगमन पर उनका स्वागत किया। उन्होंने छात्रों से बातचीत भी की। "हम यूक्रेन में फंसे सभी भारतीय छात्रों को निकालने में सफल हो रहे हैं। पीएम मोदी के मार्गदर्शन में तैनात चारों मंत्री जमकर मेहनत कर रहे हैं। प्रमाणिक ने बताया सभी निकाले गए छात्रों में भारत के लिए जोश और सम्मान है।

उन्होंने भारत सरकार (Government of India) को धन्यवाद दिया और बेहद खुश थे। उन्होंने कहा हम विदेश मंत्रालय और नागरिक उड्डयन मंत्रालय की एकजुटता से सभी भारतीय छात्रों को जल्द से जल्द से भारत वापस लाने के लिए सभी प्रयास कर रहा है। चार केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी, ज्योतिरादित्य एम सिंधिया (Jyotiraditya M Scindia), किरेन रिजिजू और जनरल (सेवानिवृत्त) वीके सिंह निकासी कार्यों की देखरेख करने के लिए यूक्रेन से सटे देशों में गए हुए हैं।

वही भारतीय वायु सेना के विमान भी फंसे हुए भारतीय छात्रों को वापस ला रहे हैं। विदेश मंत्रालय ने कहा कि अगले दो दिनों में 7,400 से अधिक लोगों को स्पेशल फ्लाइट के माध्यम से लाए जाने की उम्मीद है। इसके अलावा, शुक्रवार को 3,500 और 5 मार्च को 3900 से अधिक लोगों को वापस लाए जाने की उम्मीद है।

मॉस्को द्वारा यूक्रेन के अलग-अलग क्षेत्रों डोनेट्स्क और लुहान्स्क को स्वतंत्र संस्थाओं के रूप में मान्यता देने के तीन दिन बाद रूसी सेना ने 24 फरवरी को यूक्रेन में सैन्य अभियान शुरू किया। यूके, यूएस, कनाडा और यूरोपीय संघ सहित कई देशों ने यूक्रेन में रूस के सैन्य अभियानों की निंदा की है और मास्को पर प्रतिबंध लगाए हैं। इन देशों ने यूक्रेन को रूस से लड़ने के लिए सैन्य सहायता में मदद करने का भी वादा किया है।

और पढ़ें
Next Story