Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

रिंकू शर्मा हत्याकांड पर राघव चड्ढा ने भाजपा को लेकर कही ये बड़ी बात

राघव चड्ढा ने कहा कि रिंकू शर्मा का परिवार कह रहा है कि जय श्रीराम का नारा लगाने की वजह से उसकी हत्या की गई। इसकी पूर्ण रूप से जांच होनी चाहिए और दोषियों को दंड मिलना चाहिए। क्या जय श्रीराम का नारा लगाना अब सुरक्षित नहीं रह गया है? भाजपा के शासन में हिंदू सुरक्षित नहीं हैं।

रिंकू शर्मा हत्याकांड पर राघव चड्ढा ने भाजपा को लेकर कही ये बड़ी बात, जांच में आई तेजी
X

रिंकू शर्मा हत्याकांड पर राघव चड्ढा ने भाजपा को लेकर कही ये बड़ी बात

Rinku Sharma Murder Case दिल्ली के मंगोलपुरी (Mangolpuri) बीजेपी (BJP) कार्यकर्ता रिंकू शर्मा पर सियासी बवाल जारी है। इसी बीच, दिल्ली सरकार में मंत्री और प्रवक्ता राघव चड्ढा (Raghav Chadha) ने रिंकू शर्मा (Rinku Sharma) की हत्या पर भाजपा पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि भाजपा के शासन में हिंदू सुरक्षित नहीं हैं। राघव चड्ढा ने कहा कि रिंकू शर्मा का परिवार कह रहा है कि जय श्रीराम का नारा लगाने की वजह से उसकी हत्या की गई। इसकी पूर्ण रूप से जांच होनी चाहिए और दोषियों को दंड मिलना चाहिए।

क्या जय श्रीराम का नारा लगाना अब सुरक्षित नहीं रह गया है? भाजपा के शासन में हिंदू सुरक्षित नहीं हैं। चड्ढा ने कहा कि मैं केंद्रीय गृह मंत्री से पूछता हूं, वह रिंकू शर्मा के परिजनों से मिलने क्यों नहीं गए? कानून व्यवस्था उनके अधिकार क्षेत्र में है। दिल्ली में जब ऐसी घटना हुई है तब क्या उन्हें बंगाल में चुनाव प्रचार करना शोभा देता है? पुलिस आयुक्त शर्मा के परिवार वालों से मिलने क्यों नहीं गए?

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने आरोपियों से जुड़े नेटवर्क को खंगालने में जुटी

रिंकू शर्मा हत्याकांड मामले की जांच दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने जांच में तेजी कर दी है। मंगोलपुरी पुलिस की तरफ से की गई जांच को क्राइम ब्रांच अब जल्द पूरा करने में जुट गई है। रिंकू शर्मा की हत्या को लेकर फारेंसिक व तकनीकी टीम के जरिये कई तथ्यों को एकत्र करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। जांच में जुटी क्राइम ब्रांच ने इस हत्याकांड में गिरफ्तार पांच आरोपियों और उनके करीबी नेटवर्क से जुड़े लोगों सहित 10 के काल डिटेल रिकार्ड (सीडीआर) की जांच कर रही है।

ताकि यह पता लगाया जा सके कि घटना के वक्त किसकी लोकेशन कहां की थी? और आरोपियों के संपर्क में और कौन-कौन लोग थे? दरअसल जिन फोन नंबरों से आरोपियों की ज्यादा फोन पर बात हुई होबी, उन्हें भी जांच के दायरे में रखा जाएगा। इससे यह पता लगाया जा सकेगा कि इस हत्याकांड की साजिश में गिरफ्तार आरोपियों के अलावा अन्य किसी संदिग्ध का तो कोई रोल नहीं है। जिस तरह से क्राइम ब्रांच की टीम जांच को तेजी से बढ़ा रही है, उससे यह भी संभावना जताई जा रही है कि इन मामले में कुछ अन्य लोगों की भी गिरफ्तारी हो सकती है।

Next Story