Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Red Fort Violence: कोर्ट ने पुलिसकर्मी पर हमला करने वाले इस आरोपी को दी जमानत, कई पुलिस वाले हुए थे घायल

आरोपी को राहत देते हुए अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश कामिनी लाउ ने कहा कि अभियोजन पक्ष जिन तस्वीरों और वीडियो के आधार पर मामला बना रहा था, वो स्पष्ट नहीं हैं और न ही आरोपी खेमप्रीत सिंह उनमें किसी पर हमला करते हुए दिख रहा है।

Red Fort Violence: कोर्ट ने पुलिसकर्मी पर हमला करने वाले इस आरोपी को दी जमानत, 400 से भी ज्यादा पुलिस वाले हुए थे घायल
X

कोर्ट ने पुलिसकर्मी पर हमला करने वाले इस आरोपी को दी जमानत

किसान रैली के दौरान 26 जनवरी को दिल्ली के लाल किले पर पुलिसकर्मी पर भी हमले किए गए थे। जिसमें सैंकड़ों पुलिसकर्मी घायल हो गए थे। उन्हीं आरोपी में से एक शख्स को जमानत दी गई है। आपको बता दें कि इस दौरान टूलकित का मामला भी तेजी से उछला था। जिसमें किसान आंदोलन को कैसे आगे बढ़ाया जाए और केंद्र सरकार को बदनाम करने की पूरी साजिश की गई थी। वहीं दूसरी और गणतंत्र दिवस पर लाल किले में हुई हिंसा के मामले में दिल्ली की एक अदालत ने गैंगस्टर से कार्यकर्ता बने लक्खा सिधाना को दी गई अंतरिम सुरक्षा की अवधि बढ़ा दी है।

इस दौरान अदालत ने शनिवार को कहा कि वह उन चीजों में हस्तक्षेप नहीं करेगी जहां मौलिक अधिकार शामिल हैं।अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश कामिनी लॉ ने दिल्ली पुलिस को 20 जुलाई तक लक्खा सिधाना को गिरफ्तार नहीं करने का निर्देश दिया। अदालत ने यह भी कहा कि वह 'जेल भरो आंदोलन' शुरू नहीं करना चाहती। सिधाना को पहले तीन जुलाई तक गिरफ्तारी से अंतरिम सुरक्षा दी गई थी और उसे जांच में शामिल होने का निर्देश दिया गया है।

वहीं, केन्द्र के नये कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों द्वारा 26 जनवरी को दिल्ली में निकाली गई ट्रैक्टर रैली के दौरान कुछ लोग लाल किला तक पहुंच गए थे, उन्होंने वहां धार्मिक झंडा लगा दिया था और ड्यूटी पर तैनात कई पुलिसकर्मियों को घायल कर दिया था। आरोपी को राहत देते हुए अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश कामिनी लाउ ने कहा कि अभियोजन पक्ष जिन तस्वीरों और वीडियो के आधार पर मामला बना रहा था, वो स्पष्ट नहीं हैं और न ही आरोपी खेमप्रीत सिंह उनमें किसी पर हमला करते हुए दिख रहा है।

न्यायाधीश ने कहा कि आरोपी के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल हो चुका है और आगे की जांच के लिए उसकी कोई जरुरत नहीं है। उन्होंने कहा कि दोषी साबित होने तक आरोपी को निर्दोष माना जाता है। उन्होंने कहा कि इनमें से ज्यादातर अपराध जमानती हैं और गिरफ्तार किए गए 18 में 14 आरोपियों को जमानत मिल चुकी है, जिनमें मुख्य आरोपी दीप संधू और इकबाल सिंह भी शामिल हैं।

Next Story