Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Software की मदद से सेंसर वाली लग्जरी गाड़ियों का लॉक ब्रेक कर ले उड़ता था यह गैंग, पुलिस ने गोली मारकर दबोचा इनामी बदमाश

पुलिस के हत्थे चढ़ा बदमाश अर्शिल शातिर किस्म का वाहन चोर है, जो सॉफ्टवेयर के माध्यम से कार के सेंसर को ब्रेक करके लॉक तोड़कर गाड़ियां चोरी कर दूसरे राज्यों में बेच देता था। डीसीपी राजेश कुमार ने बताया कि कि 20 जनवरी को बीटा-टू थाना पुलिस ने अंतरराज्यीय वाहन चोर गिरोह का खुलासा किया था।

Software की मदद से सेंसर वाली लग्जरी गाड़ियों का लॉक ब्रेक कर ले उड़ता था यह गैंग, पुलिस ने गोली मारकर दबोचा इनामी बदमाश
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

ग्रेटर नोएडा के कोतवाली बीटा-2 पुलिस और कार सवार बदमाशों के बीच चूहड़पुर अंडरपास के पास हुई मुठभेड़ में पुलिस की गोली लगने से 25 हजार रुपये का इनामी बदमाश घायल हो गया। आरोपी की पहचान गाजियाबाद निवासी अर्शिल के रूप में हुई है। वह नए मॉडल की लग्जरी कारों के सेंसर को पलक झपकते ही तोड़कर कार चोरी कर लेता है। उसके खिलाफ ग्रेटर नोएडा, गाजियाबाद, लखनऊ व दिल्ली दर्जनों वाहन चोरी के मुकदमे दर्ज हैं। गिरोह के चार अन्य बदमाशों को पूर्व में पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है। अर्शिल के कब्जे से तमंचा, कारतूस व घटना में प्रयुक्त आई-20 कार भी बरामद की गई है।

जानकारी के अनुसार, पुलिस के हत्थे चढ़ा बदमाश अर्शिल शातिर किस्म का वाहन चोर है, जो सॉफ्टवेयर के माध्यम से कार के सेंसर को ब्रेक करके लॉक तोड़कर गाड़ियां चोरी कर दूसरे राज्यों में बेच देता था। डीसीपी राजेश कुमार ने बताया कि कि 20 जनवरी को बीटा-टू थाना पुलिस ने अंतरराज्यीय वाहन चोर गिरोह का खुलासा किया था। उस दौरान गिरफ्तार आरोपियों की पहचान कैला भट्टा, मोती मस्जिद, गाजियाबाद निवासी इस्माइल व वाहिद और नीमच, मध्यप्रदेश निवासी फिरोज और चौहान खेड़ा चित्तौड़गढ़, राजस्थान निवासी दिनेश चंद्र सुतार के रूप में हुई थी। गिरोह का मास्टर माइंड फरीदनगर मोदीनगर निवासी अर्सिल फरार हो गया था। पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से साइट-5 स्थित बंद पड़ी फैक्ट्री से 8 एसयूवी समेत 11 वाहन बरामद किए थे। गिरोह का मास्टर माइंड फरीदनगर मोदीनगर निवासी अर्सिल फरार हो गया था। अर्शिल पर 25 हज़ार का इनाम घोषित किया गया था।

डीसीपी ने बताया कि मुखबिर कि सूचना पर चूहड़पुर अंडरपास के समीप बीटा-2 थाना प्रभारी रामेश्वर की टीम सर्विस लेन पर वाहनों की चेकिंग कर रही थी। तभी एक कार को रुकने का इशारा किया तो चालक ने गति बढ़ा दी। जब घेराबंदी करने लगी तो फायरिंग शुरू कर दी। पुलिस ने जवाबी कार्रवाई कर आरोपी अर्शिल को दबोच लिया। पुलिस की गोली लगने से अर्शिल घायल हो गया। बदमाश को अस्पताल भेजा गया है। उसके पास से कार, तमंचा और कारतूस बरामद हुआ है।

Next Story