Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोरोन जांच रिपोर्ट देने में देरी करने पर लोगों ने लैब टेक्नीशियन को जमकर पीटा, वायरल हुआ वीडियो

लैब कर्मचारियों ने मारपीट करने वालों पर की कार्रवाई की मांग। सख्त कार्रवाई न होने पर दी काम बंद करने की चेतावनी।

कोरोन जांच रिपोर्ट देने में देरी करने पर लोगों ने लैब टेक्नीशियन को जमकर पीटा, वायरल हुआ वीडियो
X

कोरोना को लेकर दिल्ली हो या फिर गाजियाबाद देश के सभी हिस्सों और ज्यादातर अस्पतालों में हाहाकार मचा हुआ है। कोरोना के डर के साथ ही तेजी से फैलते संक्रमण को लेकर टेस्ट कराने वालों की लाइन लगी हुई है। ऐसा ही नजारा गाजियाबाद स्थित एमएमजी अस्पताल में देखने को मिला। यहां कोरोना टेस्ट कराने के लिए मरीजों की लंबी कतार लगी रही। जिसके चलते लोगों को अपना नंबर आने के लिए घंटों का इंतजार करना पड़ रहा है। आरोप है कि घंटों धूप में खड़े होने के बावजूद लैब से कोरोना की जांच रिपोर्ट नहीं मिल पा रही है। इसी को लेकर आग बबूला हुए मरीजों ने अस्पताल के एक लैब टेक्नीशियन की धुनाई कर दी। कुछ लोगों ने इसका वीडियो भी बना लिया। जो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

दरअसल, अस्पताल में तैनात लैब टेक्नीशियन के साथ कुछ लोगों ने जमकर मारपीट की। इस घटना के बाद से लैब के सभी कर्मचारियों में बेहद रोष व्याप्त है और उन्होंने फिलहाल चेतावनी दी है कि मारपीट करने वालों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई तो वह अपने काम पर नहीं लौटेंगे। लैब के कर्मचारियों ने इस मामले में घंटाघर कोतवाली में शिकायत भी दी है। इस पूरे मामले की जानकारी देते हुए सीनियर लैब टेक्नीशियन अभिनव ने बताया कि उनकी टीम सरकारी स्तर पर करोना सैंपल कलेक्ट करती है। मंगलवार को रिपोर्ट बांटने वाली महिला साथी लंच करने लगी। इस दौरान विकास नाम के व्यक्ति रिपोर्ट मांगने आया तो उन्हें 5 मिनट रुकने को कहा गया। लेकिन यह बात उन्हें नागवार गुजरी और उन्होंने स्टाफ के साथ अभद्रता शुरू कर दी। इस बीच साथी टेक्नीशियन भुवनेश अत्री ने इसका विरोध किया तो उन्होंने कैंपस में ही उनके साथ मारपीट की।

अभिनव ने बताया कि इस घटना के बाद से सभी कर्मचारी बेहद आहत हैं क्योंकि अपनी जान जोखिम में डालकर लोगों की सेवा में वह सब अपनी ड्यूटी पर तैनात रहते हैं। उसके बाद भी लोग कर्मचारियों के साथ मारपीट कर रहे हैं। फिलहाल इस मामले में उन्होंने कोतवाली में शिकायत की है। सभी कर्मचारियों का कहना है कि यदि मारपीट करने वालों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई तो कर्मचारी अपने काम पर वापस नहीं लौटेंगे। उधर इस पूरे मामले की जानकारी देते हुए गाजियाबाद के एसपी सिटी प्रथम निपुण अग्रवाल ने बताया कि इस तरह का मामला सामने आया है। अस्पताल के कर्मचारियों के द्वारा एक तहरीर दी गई है। तहरीर के आधार पर गहनता से जांच की जा रही है। जो भी तथ्य सामने आएंगे उसके आधार पर आरोपियों के खिलाफ अग्रिम कार्रवाई की जाएगी।

Next Story