Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Oxygen Crisis In Delhi: केजरीवाल सरकार का बड़ा फैसला, दिल्ली में लगाए जाएंगे ऑक्सीजन के 44 प्लांट, 8 जल्द होंगे तैयार

Oxygen Crisis In Delhi: केजरीवाल ने कहा कि फ्रांस से हम ऑक्सीजन के 21 प्लांट आयात कर रहे हैं, ये रेडी टू यूज प्लांट हैं। इनको अलग-अलग अस्पतालों में लगा देंगे, इससे हमें उन अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी दूर करने में मदद मिलेगी। वहीं, दिल्ली सरकार ने बैंकॉक से 18 टैंकर आयात करने का निर्णय किया है, ये टैंकर कल से आने शुरू हो जाएंगे।

Oxygen Crisis In Delhi: केजरीवाल सरकार का बड़ा फैसला, दिल्ली में लगाए जाएंगे ऑक्सीजन के 44 प्लांट
X

केजरीवाल सरकार का बड़ा फैसला

Oxygen Crisis In Delhi दिल्ली पूरे देश में कोरोना (Corona Pandemic) की सबसे ज्यादा मार झेल रही है। अस्पतालों (Hospitals) में ऑक्सीजन (Oxygen) की बेहद (ICU Beds) किल्लत हो रही है। जिस वजह से कोरोना के मरीजों की मौत हो जा रही है। दिल्ली के अस्पतालों में ऑक्सीजन न मिलने से दयनीय हालत हो गई है। ऑक्सीजन मिल भी रही है तो आखिरी वक्त में मिल पा रही है। जब तक मरीज और उनके परिजनों की हालत खराब हो रही है। ऐसे में आज दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने दिल्लीवासियों को बेहद राहत बड़ी जानकारी दी है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस (Press Conference) कर लोगों से कहा कि अगले एक महीने में हम ऑक्सीजन के 44 प्लांट लगाने जा रहे हैं, इसमें 8 प्लांट केंद्र सरकार (Central Govt) लगा रही है। उम्मीद है कि ये 8 प्लांट 30 अप्रैल तक तैयार हो जाएंगे। 36 प्लांट दिल्ली सरकार (Delhi Government) लगा रही है इसमें से 21 प्लांट फ्रांस (France) से आ रहे हैं, बाकी 15 प्लांट हमारे देश के हैं।

उन्होंने कहा कि फ्रांस से हम ऑक्सीजन के 21 प्लांट आयात कर रहे हैं, ये रेडी टू यूज प्लांट हैं। इनको अलग-अलग अस्पतालों में लगा देंगे, इससे हमें उन अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी दूर करने में मदद मिलेगी। वहीं, दिल्ली सरकार ने बैंकॉक से 18 टैंकर आयात करने का निर्णय किया है, ये टैंकर कल से आने शुरू हो जाएंगे। हमने केंद्र सरकार से इसके लिए वायुसेना के विमान देने का अनुरोध किया और उनका काफी सकारात्मक रवैया रहा है। बातचीत चल रही है। इससे ऑक्सीजन को ट्रांसपोर्ट करने में आ रही परेशानी दूर हो जाएगी और हमें अपनी पूरी ऑक्सीजन मिलनी शुरू हो जाएगी।

Next Story