Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ऑनलाइन शॉपिंग से सावधान! गिफ्ट देने के नाम लोगों से करोड़ों की ठगी, पुलिस ने ऐसे किया गिरोह का भंडाफोड़

पुलिस (Delhi Police) ने इस मामले में एक युवक को गिरफ्तार किया है। लेकिन मुख्य आरोपी हर्ष और विनोद अभी भी फरार हैं। पुलिस ने बताया कि मौके से तीन डेस्कटॉप, दो लैपटॉप, नौ मोबाइल फोन, तीन वॉकी टॉकी बरामद किए गए हैं। मामला दर्ज कर पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी है।

ऑनलाइन शॉपिंग से सावधान! गिफ्ट देने के नाम लोगों से करोड़ों की ठगी, पुलिस ने ऐसे किया गिरोह का भंडाफोड़
X

ऑनलाइन शॉपिंग से सावधान

Delhi Crime दिल्ली के मालवीय नगर (Malviya Nagar) में एक ऐसे गिरोह (Gang) को पर्दाफाश (Busted) किया है। जिसने लोगों को नौकरी दिलवाने और ऑनलाइन शॉपिंग (Online Shopping) के नाम पर करोड़ की ठगी की है। पुलिस (Delhi Police) ने इस मामले में एक युवक को गिरफ्तार किया है। लेकिन मुख्य आरोपी हर्ष और विनोद अभी भी फरार हैं। पुलिस ने बताया कि मौके से तीन डेस्कटॉप, दो लैपटॉप, नौ मोबाइल फोन, तीन वॉकी टॉकी बरामद किए गए हैं। मामला दर्ज कर पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी है। दरअसल, दिल्ली में लोगों को एयरलाइन कंपनी में नौकरी दिलाने और ऑनलाइन खरीददारी पर उपहार देने का वादा कर ठगी करने वाले 21 वर्षीय एक युवक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। जो कि गोविंदपुरी निवासी दिल्ली के मालवीय नगर स्थित फर्जी कॉल सेंटर में सुपरवाइजर का काम करता था।

16 महिलाओं को एयरलाइंस में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी

डीसीपी ने कहा कि कॉल सेंटर जनवरी के दूसरे सप्ताह से हर्ष और विनोद द्वारा चलाया जा रहा था। पुलिस को दक्षिणी दिल्ली में कॉल सेंटर के बारे में सूचना मिली जिसके बाद पुलिस ने छापेमारी की। पुलिस उपायुक्त (दक्षिण) अतुल कुमार ठाकुर ने कहा कि कॉल सेंटर के सुपरवाइजर के रूप में काम कर रहे प्रसाद और एग्जिक्यूटिव के रूप में काम करने वाली 16 अन्य महिलाओं को एयरलाइंस में नौकरी और ऑनलाइन शॉपिंग के लिए बंपर उपहार का वादा करके लोगों को लुभाने के लिए केंद्र में काम करते हुए पाया गया।

आरोपियों ने अब तक करीब 70-80 लोगों को ठगे

ठाकुर ने कहा, घर के मालिक कक्कड़ ने बताया कि दोनों ने पिछले साल दिसंबर में उनसे संपर्क किया और उनसे एक कोचिंग सेंटर चलाने के लिए किराए पर इमारत का बेसमेंट उपलब्ध कराने का अनुरोध किया। शुरुआत में हर्ष और विनोद ने सेल्स एग्जिक्युटिव्स के लिए एक ऐप के जरिए जॉब के लिए विज्ञापन दिए थे। पुलिस ने कहा, जब प्रसाद ने उनसे संपर्क किया तो उन्होंने उन्हें फर्जी कॉल सेंटर में सुपरवाइजर की नौकरी का ऑफर दिया । पुलिस ने बताया कि आरोपी अब तक करीब 70-80 लोगों को ठग चुके हैं।

Next Story