Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

साले ने जीजा की बहन के साथ चाकू के बल पर किया रेप, कोर्ट ने सुनी आपबीती

पीड़िता के अनुसार घटना की शिकायत उसने अपनी भाभी मोनिका, उसके पिता भवर सिंह तथा मां मीना देवी से की लेकिन उन्होंने उसे डरा-धमका कर चुप करा दिया। उन्होंने बताया कि इस मामले की पीड़िता ने अदालत में शिकायत की और न्यायाधीश के आदेश के पर नोएडा सेक्टर-39 थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है।

रेप का झूठा आरोप लगाने वाली युवती को हो सकती है 7 साल की सजा, जानें कैसे...
X

रेप का झूठा आरोप

Noida Rape हाईटेक सिटी में महिलाओं के साथ अत्याचार, रेप, छेड़छाड़ की खबरें आम हो गई है। महिलाओं की सुरक्षा पर सवालिया निशान बना है। क्योंकि नोएडा पुलिस प्रशासन (Noida Police) महिलाओं की सुरक्षा में नाकाम रही है। इसी बीच, नोएडा के गौतमबुद्ध नगर जिले के सेक्टर-39 थाना क्षेत्र के अंतर्गत सेक्टर-36 में रहने वाली एक युवती से रिश्तेदार द्वारा ही चाकू के बल पर कथित रूप से दुष्कर्म करने का मामला दर्ज कराया है। पुलिस (Noida Police) ने पीड़िता की शिकायत दर्ज करने से मना कर दिया। जिसके बाद महिला ने कोर्ट को आप बीती सुनाई। फिर कोर्ट के कहने पर पुलिस ने मामला दर्ज कार्रवाई में जुट गई है।

पीड़िता ने लगाए गंभीर आरोप

पीड़िता का आरोप है कि महिला थाने में शिकायत दर्ज कराने के बावजूद पुलिस ने कार्रवाई नहीं की जिसके बाद अदालत के आदेश पर नोएडा सेक्टर-39 की पुलिस ने मामला दर्ज किया है। अपर पुलिस उपायुक्त (जोन प्रथम) रणविजय सिंह ने बताया कि सेक्टर-39 में एक युवती ने शिकायत दर्ज कराई है कि वर्ष 2020 में उसके भाई की शादी आगरा की रहने वाली मोनिका के साथ हुई थी। उन्होंने बताया कि पीड़िता के अनुसार उसकी भाभी का भाई अविनाश प्रताप सिंह कुछ समय बाद अपनी बहन से मिलने नोएडा सेक्टर-36 स्थित घर आया, तथा एक दिन मौका पाकर उसने उसके साथ चाकू के दम पर बलात्कार किया।

रिश्तेदारों ने भी पीड़िता को डराया धमकाया

पुलिस ने बताया कि पीड़िता के अनुसार आरोपी ने उसकी अश्लील वीडियो बना ली। सिंह ने बताया कि पीड़िता के अनुसार घटना की शिकायत उसने अपनी भाभी मोनिका, उसके पिता भवर सिंह तथा मां मीना देवी से की लेकिन उन्होंने उसे डरा-धमका कर चुप करा दिया। उन्होंने बताया कि इस मामले की पीड़िता ने अदालत में शिकायत की और न्यायाधीश के आदेश के पर नोएडा सेक्टर-39 थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है। वहीं पीड़िता के अनुसार उसने इस मामले की शिकायत नोएडा के महिला थाने में की थी लेकिन वहां कोई कार्रवाई नहीं होने पर उसने अदालत का रुख किया।

Next Story