Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

International Jewar Airport: नोएडा के जेवर एयरपोर्ट के पास बसाया जाएगा नया 'ग्रीन शहर', जानिए क्या होगी खासियत

International Jewar Airport: इस शहर का खाका खींचने के लिए यमुना प्राधिकरण ने विशेषज्ञ कंपनी मार्स को जिम्मा सौंपा है। यह कंपनी इस शहर की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार कर रही है। यमुना प्राधिकरण के अधिकारियों के मुताबिक, जल्द ही डीपीआर बन जाएगी। डीपीआर बनने के बाद इस शहर को लेकर आगे की कार्रवाई की जाएगी। अफसरों का कहना है कि इस शहर में नवीनतम तकनीक और सुविधाएं लोगों को मिलेंगी।

International Jewar Airport: नोएडा के जेवर एयरपोर्ट के पास बसाया जाएगा नया
X

नोएडा के जेवर एयरपोर्ट के पास बसाया जाएगा नया 'ग्रीन शहर'

International Jewar Airport नोएडा में रहने वाले लोगों के लिए बड़ी खबर सामने आई है। यहां इंटरनेशनल जेवर एयरपोर्ट के पास एक 'नया ग्रीन शहर' (New Green City) बसाया जाएगा। जो 1500 शहर में फैला होगा। ये गुरुग्राम की एयरो सिटी (Gurugram's Aero City) की तर्ज पर बनाया जाएगा। हरित शहर की थीम पर इसको मूर्त रूप दिया जाएगा। यहां पर आवास, दफ्तर, बाजार, स्कूल, अस्पताल (Housing, Office, Market, School, Hospital Facility) की सुविधा मौजूद होगी। ताकि लोगों को इसी शहर के अंदर सब कुछ मिल सकें। यमुना प्राधिकरण (Yamuna Authority) के अधिकारियों के अनुसार, जल्द ही इसकी डीपीआर (DPR) बन जाएगी।

उधर, इंटरनेशनल एयर एयरपोर्ट का काम शुरू हो गया है। इस इलाके में अब विकास कार्यों को और गति मिलेगी। इस शहर में हर आधुनिक सुविधा का इंतजाम किया जाएगा। इसके लिए सभी जरूरी उपाय किए जाएंगे। इस ग्रीन शहर में कम से कम कार्बन का उत्सर्जन हो, इसका ध्यान रखा जाएगा। यहां पर सौर ऊर्जा का इस्तेमाल होगा। यानी शहर में बिजली का प्रयोग सौर ऊर्जा से ही किया जाएगा। यहां पर सीएनजी और इलेक्ट्रिकल वाहनों को चलाने की इजाजत दी जा सकती है।

पेट्रोल और डीजल के वाहन होंगे प्रतिबंधित

ऐसी योजना है कि यहां डीजल-पेट्रोल के वाहनों को चलाने की इजाजत नहीं मिलेगी। इस तरह की व्यवस्था होगी कि लोग साइकिल से ही अपने सारे काम कर सकेंगे। उन्हें वाहनों का इस्तेमाल करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। इस शहर का खाका खींचने के लिए यमुना प्राधिकरण ने विशेषज्ञ कंपनी मार्स को जिम्मा सौंपा है। यह कंपनी इस शहर की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार कर रही है। यमुना प्राधिकरण के अधिकारियों के मुताबिक, जल्द ही डीपीआर बन जाएगी। डीपीआर बनने के बाद इस शहर को लेकर आगे की कार्रवाई की जाएगी। अफसरों का कहना है कि इस शहर में नवीनतम तकनीक और सुविधाएं लोगों को मिलेंगी।

Next Story