Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दिल्ली-एनसीआर में वायु गुणवत्ता को लेकर NGT ने पटाखे पर प्रतिबंध को बढ़ाया, जारी की नई गाइडलाइन्स

एनजीटी ने क्रिसमस और नये साल पर पटाखे फोड़ने को लेकर दिशा-निर्देश जारी किया है। जिन शहरों की वायु गुणवत्ता ठीक है वहां रात में 11:30 से 12:30 बजे तक ग्रीन पटाखे जला सकते है।

दिल्ली-एनसीआर में खराब हवा को लेकर NGT ने पटाखे पर प्रतिबंध को बढ़ाया, जारी की नई गाइडलाइन्स
X

दिल्ली-एनसीआर में खराब हवा को लेकर NGT ने पटाखे पर प्रतिबंध को बढ़ाया

दिल्ली-एनसीआर में जहरीली होती हवा को लेकर नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) ने पटाखों की बिक्री और जलाने पर प्रतिबंध को बढ़ा दिया है। आपको बता दें कि एनजीटी ने 9 नवंबर से 30 नवंबर तक पूरे दिल्ली-एनसीआर में पटाखों की बिक्री और जलाने पर बैन लगा दिया था। उन्होंने ये फैसला कोरोना महामारी के मद्देनजर और प्रदूषण के प्रकोप के कारण लिया गया है। आने वाले दिनों में क्रिसमस और नया साल है और इस दिन भी लोग बड़ी संख्या में पटाखे खरीदते तथा फोड़ते है। लेकिन इस साल दिल्ली-एनसीआर पहले से ही डबल मार झेल रही है।

इसके लिए अभी से एनजीटी द्वारा कदम उठाये जा रहे है। एनजीटी ने क्रिसमस और नये साल पर पटाखे फोड़ने को लेकर दिशा-निर्देश जारी किया है। जिन शहरों की वायु गुणवत्ता ठीक है वहां रात में 11:30 से 12:30 बजे तक ग्रीन पटाखे जला सकते है। यानि एक घंटे तक पटाखे फोड़ने की अनुमति दी गई। वहीं एनजीटी ने सभी जिलों में हवा की गुणवत्ता की जांच के लिए पीएम यंत्र लगाने का निर्देश दिया है।

वायु गुणवत्ता बेहद खराब श्रेणी में दर्ज

दिल्ली में वायु गुणवत्ता बुधवार को बेहद खराब श्रेणी में दर्ज किया गया और वहीं दिल्ली से सटे गाजियाबाद और ग्रेटर नोएडा में प्रदूषण का स्तर गंभीर श्रेणी में रहा। दिल्ली एनसीआर में वायु गुणवत्ता सूचकांक 381 दर्ज किया गया था। इससे पहले मंगलवार को 367, सोमवार को 318 और रविवार को 268 था। गाजियाबाद में एक्यूआई 430 और ग्रेटर नोएडा में 410 दर्ज किया गया। आईएमडी के अनुसार हवा की अधिकतम गति 12 किलोमीटर प्रति घंटा रहने की उम्मीद है।

Next Story