Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

एनसीआरबी रिपोर्ट के आंकड़े, इन पांच राज्यों में नहीं है महिलाएं सुरक्षित

रेप के मामलों में औसतन पिछले 10 वर्षों में लगभग चार गुणा बढ़ा है और इन पांच राज्यों में हर दिन तीन महिलाओं से रेप की घटना हुई है। पिछले साल से अब तक इन राज्यों में हर रोज रेप की संख्या 3 से बढ़कर 11 हुई है।

एनसीआरबी रिपोर्ट के आंकड़े, इन पांच राज्यों में नहीं है महिलाएं सुरक्षित
X
एनसीआरबी रिपोर्ट के आंकड़े

उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले में गैंगरेप उसके बाद पुलिस द्वारा उसके जला देने के बाद से लोगों में गुस्से का ज्वालामुखी फुटा हुआ है वहीं राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) ने महिलाओं से रेप को लेकर ताजा आंकड़ें जारी किये है। आंकड़ों से पता चलता है कि 2012 से अब तक भारत में कितने रेप हुये हैं और कौन से राज्य में सबसे ज्यादा रेप की वारदातें हुई है। रेप के वारदातों के मामले में राजस्थान, यूपी और मध्य प्रदेश से केरल जैसे राज्य शामिल हैं। बीते 10 साल में इन राज्यों में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर स्थिति बद से बदतर हुई है।

एनसीआरबी के ताजा आंकड़ों से पता चलता है कि भारत में कुल दर्ज रेप केसों में, पांच रेप पीड़िताओं में से चार इन 5 राज्यों से हैं। जो कि इन राज्यों से है। राजस्थान, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, और केरल आदि। आपकों बता दें कि रेप के मामलों में औसतन पिछले 10 वर्षों में लगभग चार गुणा बढ़ा है और इन पांच राज्यों में हर दिन तीन महिलाओं से रेप की घटना हुई है। पिछले साल से अब तक इन राज्यों में हर रोज रेप की संख्या 3 से बढ़कर 11 हुई है।

पहले स्थान पर है राजस्थान

एनसीआरबी डेटा के मुताबिक 2009 में राजस्थान में 1,519 रेप केस दर्ज हुए। 2019 में ये आंकड़ा बढ़कर 5,997 केस तक पहुंच गया। राजस्थान में पिछले 10 साल में रिपोर्ट हुए रेप केसों की संख्या में 295 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। ये देश के किसी भी राज्य की तुलना में सबसे खराब स्थिति है।

दूसरे स्थान पर है उत्तर प्रदेश

देश में सबसे ज्यादा आबादी वाले इस राज्य में पिछले 10 साल में रेप केस लगभग दोगुने हो गए। राज्य में 2009 में 1,759 रेप केसों की तुलना में 2019 में 3,065 ऐसे केस दर्ज हुए। इन दिनों से यह हाथरस की घटना की वजह से सुर्खियों में हैं।

तीसरे स्थान पर है मध्य प्रदेश

मध्य प्रदेश में 2013 से 2018 तक हर साल 4,000 से अधिक रेप केस रिपोर्ट हुए। 2019 में प्रदेश में 2,485 रेप केस रिपोर्ट हुए। हालांकि मध्य प्रदेश अकेला ऐसा राज्य है जहां बलात्कार के मामलों की संख्या में 17 प्रतिशत की गिरावट दर्ज हुई है।

चौथे स्थान पर है महाराष्ट्र

राज्यों में महाराष्ट्र पिछले 10 साल में रेप केसों मे 55 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज हुई। यह भारत की मेट्रो सिटी कही जाती है। ऐसा भी कहा जाता है यह राज्य कभी सोता नहीं है और ऐसे में महिलाओं का असुरक्षित होना समझ से परे है।

पांचवे स्थान पर है केरल

केरल में पिछले 10 साल में रेप केसों की संख्या में 256 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई। 2009 में केरल में 568 रेप केस दर्ज हुए जो 2019 में 1,455 बढ़कर 2,023 तक पहुंच गए। केरल इस सूची में दूसरा सबसे खराब प्रदर्शन करने वाला राज्य है।

Next Story