Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सिविल डिफेंस कर्मी पर बदमाशों ने की ताबड़तोड़ फायरिंग, अस्पताल पहुंचने से पहले हुई मौत

नई दिल्ली के बवाना थाना इलाके में बदमाशों ने एक सिविल डिफेंस कर्मी पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसा दी। वारदात के बाद आरोपी मौके से फरार हो गए। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस उसे लेकर अस्पताल गई जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

यौन संबंध न बनाने पर पत्थर से कुचलकर दोस्त की हत्या, गिरफ्तार
X
हत्या (प्रतीकात्मक फोटो)

नई दिल्ली के बवाना थाना इलाके में बदमाशों ने एक सिविल डिफेंस कर्मी पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसा दी। वारदात के बाद आरोपी मौके से फरार हो गए। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस उसे लेकर अस्पताल गई जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। बताया जा रहा है कि युवक को एक दर्जन से अधिक गोलियां लगी है।

मृतक का नाम शशि कादयान (22) है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया है। शुरुआती जांच के बाद पुलिस का कहना है कि आपसी रंजिश के चलते बदमाशों ने वारदात को अंजाम दिया है। पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस घटनास्थल के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगालने के अलावा शशि के मोबाइल फोन की कॉल डिटेल निकालकर मामले की जांच कर रही है।

जानकारी के मुताबिक शशि कादयान कटेवड़ा गांव बवाना इलाके में सपरिवार रहता था। परिवार में पिता राम निवास, मां और तीन बहनें है। इसमें दो बहनें शादीशुदा हैं। परिवार में वह इकलौता बेटा था। वह नरेला डीएम ऑफिस में एडिशनल डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट का ड्राइवर था। शशि के पिता राम निवास विकलांग हैं।

पुलिस को सुबह करीब 6:15 बजे एक युवक का शव खून से लथपथ जोगी वाला चौक कटेवड़ा गांव बवाना इलाके में पड़े होने की सूचना मिली। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। मौके पर पहुंची पुलिस को वहां एक युवक खून से लथपथ मिला। पुलिस उसे अस्पताल लेकर गई जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। बाद में मृतक की शिनाख्त शशि कादयान के रूप में हुई। वारदात की सूचना स्थानीय लोगों ने शशि के परिजनों को दी।

पिछले साल ही लगी थी नौकरी

शशि के पिता राम निवास ने बताया कि शशि की पिछले साल ही सिविल डिफेंस में नौकरी लगी थी। परिवार की किसी से कोई दुश्मनी नहीं है। लेकिन हमलावरों ने बेटे को इतनी गोलियां मारी है। जैसे किसी ने उससे अपनी रंजिश निकाली हो। बेटे की मौत के बाद पूरे परिवार में मातम छाया हुआ है।

थोड़ी देर में घर आने की कही बात

शशि की मां ने रात को उसको फोन कर घर आने की बात कही। इस पर शशि ने मां से कहा था कि साहब एयरपोर्ट जा रहे हैं। वह अभी घर लौट आएगा। इसके बाद भी काफी देर वह घर नहीं लौटा तो परिजनों ने उसे फिर फोन किया। लेकिन उसका फोन बंद जाता रहा। हर बार फोन बंद ही गया। बेटे की चिंता में पूरा परिवार रात भर नहीं सोया।

पास से मारी गई शशि को गोलियां

पुलिस सूत्रों ने कि शशि को पास से गोलियां मारी गई हैं। वहीं उनका यह भी कहना है कि जिस तरह से हमलावरों ने वारदात को अंजाम दिया है। ऐसा लगता है जैसे किसी गैंग ने शशि पर गोलियां बरसाई हो। सूत्रों का कहना है कि हत्या के पीछे गोगी-टिल्लू गैंग का हाथ हो सकता है चूंकि वारदात के वक्त इतनी गोली यहीं दो गैंग चलाया करते हैं। जबकि बवानियां और उसके साथ के गैंग किसी को मारने के लिए तीन से चार ही गोली चलाते हैं और फरार हो जाते हैं।

पुलिस को मौके से मिले 20 कारतूस के खोखे

स्थानीय लोगों का कहना है कि शशि को इस तरह से गोलियों से भूना गया है। इससे ऐसा लगता है कि हमलावर शशि को जिंदा नहीं छोड़ना चाहते थे। तभी उन्होंने शशि पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसाई। पुलिस को मौके से 20 कारतूस के खाली खोखे मिले है।

Next Story