Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दर्दनाक हादसा: डॉगी बचाने के चक्कर में 9वीं मंजिल से गिरकर मासूम की मौत

गाजियाबाद के एक स्कूल में मासूम सातवीं क्लास में पढ़ रही थी। वह माता-पिता के साथ एक सोसाइटी में रह रही थी। जब ये घटना घटित हुई उस समय घर में मां और बेटी ही थी। बच्ची जब गिरी उसकी आवाज सुनकर मां भागती हुई नीचे गई तो मासूम खून से लथपथ थी। जिसके बाद उसे अस्पताल ले जाया गया। वहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

दर्दनाक हादसा: कुत्तों को बचाने के चक्कर में 9वीं मंजिल से गिरकर मासूम की मौत, पुलिस मामले की जांच में जुटी
X

दर्दनाक हादसा: कुत्तों को बचाने के चक्कर में 9वीं मंजिल से गिरकर मासूम की मौत

Ghaziabad News गाजियाबाद से हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां एक 12 साल की बच्ची की डॉगी को बचाते समय नौंवी मंजिल से गिरकर मौत हो गई। बच्ची के साथ ही डॉगी की भी गिरने से मौत हो गई। बताया जा रहा है बच्ची घर में डॉगी के साथ खेल रही थी। इसी दौरान डॉगी का पैर नेट में फंस गया। डॉगी को बचाने और उसके पैर को निकालने की कोशिश में बच्ची बालकनी से फिसल गई और नीचे जा गिरी। नौंवी मंजिल से गिरते ही उसकी मौत हो गई। उसी के साथ डॉगी भी नीचे जा गिरा उसकी भी मौत हो गई। बच्ची की पहचान ज्योत्सना के रूप में हुई है। इस मामले में पुलिस (Ghaziabad Police) केस दर्ज कर आगे की छानबीन में जुट गई है।

जानकारी के मुताबिक, गाजियाबाद के एक स्कूल में मासूम सातवीं क्लास में पढ़ रही थी। वह माता-पिता के साथ गोविंदपुरम के गौर होम्स सोसायटी में रहती थी। जब ये घटना घटित हुई उस समय घर में मां और बेटी ही थी। बच्ची जब गिरी उसकी आवाज सुनकर मां भागती हुई नीचे गई तो मासूम खून से लथपथ थी। जिसके बाद उसे अस्पताल ले जाया गया। वहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इस घटना के बाद परिवार सदमे है और पुलिस को बयान देने के हालत में नहीं है।

पुलिस ने बताया कि कुत्ते के बच्चे को बचाने के चक्कर में 12 वर्षीय बच्ची की मौत हो गई। वहीं वह कुत्ते का बच्चा भी नहीं बच पाया और बच्ची के साथ ही नीचे गिर गया था। जिसके बाद दोनों की मौत हो गई। पुलिस ने कहा कि चश्मदीदों के बयान पर मामले की जांच की जा रही है। हालांकि अभी परिवार सदमे में होने के कारण कुछ भी बोलने से इनकार कर रहा है।

Next Story