Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

MCD ने अपनी Health Policy में किया बदलाव, लोगों को रोजगार देने के लिए निकाला बेहतरीन तरीका

पूर्वी दिल्ली के मेयर ने कहा है कि व्यापार और रोजगार को बढ़ावा को लेकर इस नई नीति को मंजूरी दी है। इसके तहत बैटरी चालित ई-रिक्शा को पैकेटबंद आइटम जैसे सैंडविच, केक, मफिन, ब्रेड या बन और कोल्ड ड्रिक्स जैसे खाद्य पदार्थ बेचने के लिए लाइसेंस जारी किए जाएंगे।

MCD ने अपनी Health Policy में किया बदलाव, लोगों को रोजगार देने के लिए निकाला बेहतरीन तरीका
X

MCD ने अपनी Health Policy में किया बदलाव

दिल्ली में कोरोना महामारी (Corona Pandemic) में लगे लॉकडाउन (Lockdown) के कारण गरीब, मजदूर और आम लोगों को काफी परेशानी उठानी पड़ी है। वहीं कई लोगों की नौकरी चली गई है। दिल्ली में बेरोजगारी दर पहले की तुलना बहुत बढ़ गई है। ऐसे में दिल्ली नगर निगम ने अपनी हेल्थ पॉलिसी में बदलाव करते हुए लोगों को रोजगार देने के लिए बेहतरीन तरीका निकाला है। पूर्वी दिल्ली नगर निगम (EDMC) ने नई स्वास्थ्य व्यापार लाइसेंस नीति को मंजूरी दे दी है।

इसके मुताबिक, अब ई-रिक्शा चालक भी पैक्ड फूड आइटम बेच सकेंगे। अभी ये योजना पूर्वी दिल्ली में लागू की जा रही है। पूर्वी दिल्ली के मेयर ने कहा है कि व्यापार और रोजगार को बढ़ावा को लेकर इस नई नीति को मंजूरी दी है। इसके तहत बैटरी चालित ई-रिक्शा को पैकेटबंद आइटम जैसे सैंडविच, केक, मफिन, ब्रेड या बन और कोल्ड ड्रिक्स जैसे खाद्य पदार्थ बेचने के लिए लाइसेंस जारी किए जाएंगे। उन्होंने कि शुरुआती चरण में, दिल्ली ट्रैफिक पुलिस से एनओसी मिलने के आधार पर, प्रत्येक निगम वार्ड में अधिकतम दो मोबाइल ई-कार्ट आवंटित किए जाएंगे।

हालांकि योजना से अपेक्षित परिणाम मिलने के बाद इनकी संख्या बढ़ाई जाएगी। यह ई-कार्ट स्थायी नहीं होंगे यानि उन्हें एक स्थान से दूसरे स्थान तक घूमते रहना होगा। इससे अतिक्रमण भी नहीं होगा और पैदल नागरिकों को भी इनकी वजह से कोई परेशानी नहीं होगी। मेयर ने बताया कि ई-फूड कार्ट को केवल आवासीय और मिश्रित भूमि सड़क वाले क्षेत्रों में ही घूमने की अनुमति होगी। इन्हें व्यवसायिक क्षेत्रों में घूमने की अनुमति नहीं होगी। मेयर ने कहा कि ई-कार्ट को ट्रेन या बस के प्रोटोटाइप के रूप में बनाने की अनुमति दी जाएगी ताकि वे दिखने में भी अच्छे लगेंगे।

Next Story