Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Mausam Ki Jankari: दिल्ली के कई इलाकों में जोरदार बारिश, मौसम हुआ सुहाना, लोगों को मिली गर्मी से राहत

Mausam Ki Jankari: भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के अनुसार, न्यूनतम तापमान आज सामान्य से दो डिग्री कम 26.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया और अधिकतम तापमान के 37 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने का अनुमान है। वहीं, सुबह साढ़े आठ बजे हवा में आर्द्रता का स्तर 68 प्रतिशत रहा।

Mausam Ki Jankari: दिल्ली के कई इलाकों में जोरदार बारिश, मौसम हुआ सुहाना, लोगों को मिली गर्मी से राहत
X

 दिल्ली के कई इलाकों में जोरदार बारिश

Mausam Ki Jankari दिल्ली में आज कुछ जगहों पर तेज बारिश देखने को मिली है। यहां तालकटोरा और शास्त्री भवन से झमाझम बारिश की तस्वीरें सामने आई है। मौसम विभाग ने बताया कि अगले 2 घंटे में नई दिल्ली में कुछ जगहों (ITO, राजीव चौक, राष्ट्रपति भवन, इंडिया गेट, बुद्धा जयंती पार्क) और उत्तर प्रदेश के बड़ौत, बिजनौर, खतौली, सकोटी टांडा, किठौर, नरौरा, देबाई, अनूपशहर, जहांगीराबाद, बुलंदशहर, अतरौली और आसपास के इलाकों में हल्की से मध्यम बारिश होगी। दिल्ली में आज सुबह से ही बादल छाए (Clouds) हुए है।

यहां तेज हवा के साथ बारिश (Delhi Rain) का अनुमान जताया गया है। वहीं तापमान (Delhi Temperature) में भी गिरावट दर्ज की गई है। फिलहाल गर्मी और उमस (Heat And Humidity) से लोगों को राहत मिली हुई है। इस बीच, राष्ट्रीय राजधानी में बृहस्पतिवार को आसमान में बादल छाए रहने और हल्की बारिश होने का अनुमान है।

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के अनुसार, न्यूनतम तापमान आज सामान्य से दो डिग्री कम 26.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया और अधिकतम तापमान के 37 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने का अनुमान है। वहीं, सुबह साढ़े आठ बजे हवा में आर्द्रता का स्तर 68 प्रतिशत रहा। राष्ट्रीय राजधानी में बुधवार को अधिकतम और न्यूनतम तापमान क्रमश: 26.2 और 34.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था।

मानसूनी बारिश के लिए करना होगा और इंतजार

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के कई हिस्सों में बुधवार को हल्की बारिश हुई, लेकिन दिल्लीवासियों को मानसून की बारिश के लिए अभी और इंतजार करना पड़ेगा। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने यह जानकारी दी। दिल्ली में सुबह न्यूनतम तापमान 26.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। अधिकतम तापमान 34 डिग्री सेल्सियस रहा। पीतमपुरा में 24.5 मिलीमीटर और नजफगढ़ एवं पूसा में 0.5 मिलीमीटर वर्षा हुई। आईएमडी अधिकारियों ने बताया कि पछुआ हवाओं के कारण उत्तर-पश्चिम भारत में मानसून के पहुंचने की गति प्रभावित हुई है। आईएमडी ने कहा कि बड़े पैमाने पर वर्तमान परिस्थितियां मानसून के राजस्थान, गुजरात, के बाकी हिस्सों एवं पंजाब, हरियाणा और दिल्ली की ओर आगे बढ़ने के अनुकूल नहीं हैं।

उत्तर भारत के लिए मॉनसून की स्थितियां अभी अनुकूल नहीं

मॉनसून के राजस्थान, गुजरात के शेष हिस्से, पंजाब, हरियाणा और दिल्ली तक पहुंचने के लिए वायुमंडल संबंधी स्थितियां अब भी अनुकूल नहीं हैं। यह जानकारी बुधवार को भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने दी। इसने कहा कि च्रकवातीय सर्कुलेशन पूर्वी उत्तर प्रदेश और आसपास के इलाकों में बना हुआ है और वहां पश्चिमी विक्षोभ की भी स्थिति है। आईएमडी के महानिदेशक एम. महापात्र ने कहा कि ये स्थितियां मॉनसून के आगे बढ़ने के लिए अनुकूल नहीं हैं। आईएमडी ने कहा कि मॉनसून के राजस्थान, गुजरात के शेष हिस्से, पंजाब, हरियाणा और दिल्ली पहुंचने के लिए वायुमंडलीय स्थिति अनुकूल नहीं है।

Next Story