Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Mausam Ki Jankari: दिल्ली में मानसून मेहरबान, अब तक 1159 मिलीमीटर बारिश दर्ज, आज भी छींटे पड़ने की आशंका

Mausam Ki Jankari: राजधानी में इस साल मानसून के आने का इंतजार लंबा रहा लेकिन जब बादल बरसे तो झूम कर बरसे। आईएमडी के आंकड़ों के मुताबिक, इस साल बेहतर मॉनसून के कारण दिल्ली में अब तक 1159.4 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई है, जो 1964 के बाद से सबसे अधिक और अब तक की तीसरी सर्वाधिक बारिश है।

Mausam Ki Jankari:
X

हरियाणा  में मानसून मेहरबान, अब तक राज्य में 566.6 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। 

Mausam Ki Jankari दिल्ली में मानसून (Monsoon) पूरी तरह मेहरबान दिख रहा है। क्योंकि इस सीजन बारिश (Rain) ने सालों का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। बारिश ने जहां एक ओर लोगों को राहत दी है तो दूसरी तरफ परेशानी भी दी है। क्योंकि बारिश के कारण जलभराव (Water Logged) से काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इस बीच, दिल्ली-एनसीआर (Delhi NCR) में शुक्रवार को सुबह मौसम सुहावना रहने के साथ ही न्यूनतम तापमान (Delhi Temperature) सामान्य से एक डिग्री कम, 23.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विभाग (IMD) के अनुसार, हवा में आर्द्रता का स्तर 82 प्रतिशत दर्ज किया गया। विभाग ने दिन में बादल छाए रहने के साथ ही गरज के साथ छींटे पड़ने और हल्की से मध्यम बारिश होने का पूर्वानुमान जताया है। अधिकतम तापमान 29 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने का अनुमान है। शहर में बृहस्पतिवार को अधिकतम तापमान 28 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 24.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था।

मानसून का सितंबर में भी लौटने की संभावना नहीं

देश में सितंबर में भी मानसून जाने के आसार नहीं दिख रहे है। क्योंकि इस माह के अंत तक पूरे उत्तर भारत में बारिश में कमी नहीं होगी। आईएमडी के अनुसार, दक्षिण-पश्चिम मॉनसून उत्तर पश्चिम भारत से तभी वापस होता है जब लगातार पांच दिनों तक इलाके में बारिश नहीं होती है। निचले क्षोभ मंडल में चक्रवात रोधी वायु का निर्माण होता है और आर्द्रता में भी काफी कमी होना आवश्यक है। आईएमडी के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने कहा कि अगले दस दिनों तक उत्तर भारत से मॉनसून की वापसी के संकेत नहीं दिख रहे हैं।

दिल्ली में 1964 के बाद सबसे ज्यादा बारिश

राजधानी में इस साल मानसून के आने का इंतजार लंबा रहा लेकिन जब बादल बरसे तो झूम कर बरसे। आईएमडी के आंकड़ों के मुताबिक, इस साल बेहतर मॉनसून के कारण दिल्ली में अब तक 1159.4 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई है, जो 1964 के बाद से सबसे अधिक और अब तक की तीसरी सर्वाधिक बारिश है। साथ ही, दिल्ली में सितंबर में हुई बारिश ने 400 मिमी के निशान को पार कर लिया है। बृहस्पतिवार दोपहर तक हुई 403 मिमी बारिश सितंबर 1944 में 417.3 मिमी के बाद से इस महीने में हुई सबसे अधिक वर्षा है।

Next Story