Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Mausam Ki Jankari: दिल्ली-एनसीआर के कई हिस्सों में झमाझम बारिश, सड़कों पर जलजमाव से लगा जाम

Mausam Ki Jankari: मौसम विज्ञानियों ने बताया कि सुबह साढ़े आठ बजे सापेक्षिक आर्द्रता 94 प्रतिशत दर्ज की गयी। मौसम विभाग के अधिकारियों के अनुसार, अधिकतम तापमान 34 डिग्री सेल्सियस के आसपास रह सकता है। मौसम विभाग के अनुसार दिल्ली के कुछ इलाकों में 100 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई है जो साल 2013 के बाद से अब तक का सबसे बड़ा रिकोर्ड है।

Mausam Ki Jankari: दिल्ली-एनसीआर के कई हिस्सों में झमाझम बारिश, सड़कों पर जलजमाव से लगा जाम
X

दिल्ली-एनसीआर के कई हिस्सों में झमाझम बारिश

Mausam Ki Jankari राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के कई हिस्सों में बारिश हो रही है। जिसे मौसम फिर से सुहाना हो गया है। जगह-जगह पर सड़कों पर जलजमाव देखने को मिल रहा है।दिल्ली में बारिश का दौर जारी है। जिसके कारण मौसम सुहाना बना हुआ है। लोगों को गर्मी से राहत मिली हुई है। वहीं दो दिन की बारिश (Delhi Rain) ने दिल्ली की सड़कों का दरिया बना दिया है। क्योंकि जगह-जगह जलजमाव (Water Logging) देखने को मिला। सड़कों पर गाड़ियां रेंगती नजर आई। जबकि कई हिस्सों में जाम जैसी समस्या देखने को मिली। इस बीच, राष्ट्रीय राजधानी में आज झमाझम बारिश होने की संभावना है। सुबह न्यूनतम तापमान (Delhi Temperature) सामान्य से तीन डिग्री कम 24 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। इस बात की जानकारी मौसम विभाग (IMD) ने दी है।

मौसम विज्ञानियों ने बताया कि सुबह साढ़े आठ बजे सापेक्षिक आर्द्रता 94 प्रतिशत दर्ज की गयी। मौसम विभाग के अधिकारियों के अनुसार, अधिकतम तापमान 34 डिग्री सेल्सियस के आसपास रह सकता है। मौसम विभाग के अनुसार दिल्ली के कुछ इलाकों में 100 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई है जो साल 2013 के बाद से अब तक का सबसे बड़ा रिकोर्ड है। बताया जा रहा है कि बीते एक दशक में ये तीसरी बार है जब 100 मिलीमीटर या उससे ज्यादा बारिश दर्ज की गई हो। दिल्ली में जुलाई में 210.6 मिमी बारिश दर्ज की गई थी। शहर में पिछले साल 236.9 मिमी, 2019 में 199.2 मिमी और 2018 में 286.2 मिमी बारिश दर्ज की गई थी। साल 2013 में दिल्ली में 340.5 मिमी बारिश हुई थी।

आईएमडी के आंकड़ों के अनुसार जुलाई, 2003 में अब तक का रिकॉर्ड 632.2 मिमी बारिश दर्ज की गई थी। दिल्ली की वायु गुणवत्ता बृहस्पतिवार सुबह मध्यम श्रेणी में दर्ज की गयी। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के आंकड़ों के मुताबिक, सुबह 12 बजे तक वायु गुणवत्ता सूचकांक 129 दर्ज किया गया। आपको बता दें कि शून्य से 50 के बीच के एक्यूआई को अच्छा, 51 से 100 के बीच को संतोषजनक, 101 से 200 के बीच को मध्यम, 201 से 300 के बीच को खराब, 301 से 400 के बीच को बहुत खराब और 401 से 500 के बीच को गंभीर माना जाता है।

Next Story