Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

JNU विवाद मामले में FIR दर्ज, ABVP ने कहा- पहले से तय था… नहीं बनेगा नॉनवेज

जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (Jawaharlal Nehru University) मामले में दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (Bharatiya Vidyarthi Parishad) समर्थित अज्ञात छात्रों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज(FIR Registered) की है, जिसमें आरोपितों के खिलाफ आईपीसी की धारा 323/341/509/506/34 लगाई गई है।

JNU विवाद मामले में FIR दर्ज, ABVP ने कहा- पहले से तय था… नहीं बनेगा नॉनवेज
X

जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (Jawaharlal Nehru University) मामले में दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (Bharatiya Vidyarthi Parishad) समर्थित अज्ञात छात्रों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज(FIR Registered) की है, जिसमें आरोपितों के खिलाफ आईपीसी की धारा 323/341/509/506/34 लगाई गई है।

पुलिस को शिकायत जेएनयू छात्र संघ (JNU Students Union) के सदस्यों द्वारा दी गई थी, जिसमें एसएफआई, डीएसएफ और आइसा समर्थित छात्र शामिल हैं। इसी बीच अब एबीवीपी (ABVP) ने सोमवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अपना पक्ष रखा है। एबीवीपी ने कहा कि कम्युनिस्ट लोग इस बात से नफरत करते हैं कि कैंपस में पूजा कैसे हो सकती है। यह पहले से ही तय था और मेस इंचार्ज को पता था कि रामनवमी के दिन कावेरी छात्रावास (Kaveri Hostel) में मांसाहारी खाना नहीं परोसा जाएगा।

हमें पत्थरों से मारा गया जो बाहर से लाए गए थे। एबीवीपी ने कहा कि चार इंडिपेंडेंट छात्रों द्वारा पूजा, भजन कीर्तन का आयोजन किया गया। वहीं एबीवीपी का आरोप है कि हमें सात दिन पहले से लगातार धमकियां मिल रही थीं। छात्र परिषद ने दावा किया है कि कावेरी छात्रावास के लिए छात्रों और मेस प्रभारी से बात करने के बाद ही तय किया गया कि नॉनवेज नहीं बनाया जाएगा।

बढ़ाई गई सुरक्षा

वही जेएनयू में शांति बनाए रखने और किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए सुरक्षा कड़ी कर दी गई। पुलिस के मुताबिक, कैंपस के अंदर और बाहर सुरक्षा बढ़ा दी गई है। फिलहाल परिसर के बाहर पुलिस बल को तैनात किया गया है, जबकि विश्वविद्यालय के सुरक्षाकर्मी परिसर के अंदर सुरक्षा व्यवस्था संभाल रहे हैं।

ये हैं मामला

रविवार को जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) के कावेरी छात्रावास में रामनवमी पर एक मेस में मांसाहारी भोजन परोसने को लेकर छात्रों के दो समूहों के बीच झड़प हो गई। इस मामले पर एबीवीपी संगठन ( ABVP Organization) के छात्रों का कहना है कि वामपंथी (Leftists) छात्रों ने रामनवमी कार्यक्रम नहीं देखा और रामनवमी और इफ्तार पार्टी के समन्वय को बिगाड़ने के लिए वामपंथियों ने हमला किया। वहीं वामपंथी छात्रों का कहना है कि एबीवीपी की मांग थी कि मेस में सिर्फ वेज खाना ही बनाया जाए और इसीलिए पथराव किया गया जिससे मेस का शीशा टूट गया, छात्र घायल हो गए।

और पढ़ें
Next Story