Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

स्वतंत्रता दिवस को लेकर सुरक्षा एजेंसियां सतर्क, लाल किले पर ड्रोन से हमले की आशंका, सुरक्षा में तैनात किए गए स्नाइपर

लाल किले पर होने वाले 15 अगस्त कार्यक्रम इस बार सुरक्षा एजेंसियों के लिए बड़ी चुनौती है। अभी से सेना के जवानों की लाल किले के अंदर और बाहर तैनाती होनी शुरू हो गई है। वहीं एक तरीका का लाल किले के पास खाका तैयार किया गया है और यहां सेना के जवान अलग-अलग मोर्चे बनाए गए हैं।

दिल्ली में आतंकी हमले का खतरा, आतंकियों के निशाने पर  इस्राइली और यहूदी नागरिक, खुफिया एजेंसियां अलर्ट
X

दिल्ली में आतंकी हमले का खतरा

दिल्ली में इस वर्ष 75वां स्वतंत्रता दिवस (Independence Day) मनाया जाएगा। जिसकी तैयारियों को लेकर सुरक्षा एजेंसियों (Security Agencies) ने लाल किले (Red Fort) की सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद कर दी है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, आतंकी द्वारा जम्मू एयरफोर्स स्टेशन (Jammu Air Force Station) पर ड्रोन हमले से खुफिया और सुरक्षा ऐजेंसियां बिल्कुल सतर्क हो गई हैं। लाल किले पर होने वाले 15 अगस्त के कार्यक्रम इस बार सुरक्षा एजेंसियों के लिए बड़ी चुनौती है। अभी से सेना के जवानों की लाल किले के अंदर और बाहर तैनाती होनी शुरू हो गई है। वहीं लाल किले के पास खाका तैयार किया गया है और यहां सेना के जवान अलग-अलग मोर्चे बनाए गए हैं।

जवान ड्रोन के खतरे को लेकर अलर्ट

ड्रोन के खतरे को लेकर यहां पहरा बढ़ाया गया है। कार्यक्रम से पहले दिल्ली में आतंकी साजिश को अंजाम देने की फिराक में हैं। जिसको लेकर दिल्ली पुलिस की एंटी टेरर यूनिट यानी स्पेशल सेल और खुफिया एजेंसियों के रेडार पर संदिग्धों की एक्टिविटी हैं। आने वाले दिनों में साजिश से पर्दा उठ सकता है। किसी भी खतरे से निपटने के लिए तैयारी में जुटे सुरक्षा सूत्रों ने बताया कि, दिल्ली पुलिस के जवानों को रूफ टॉप फायरिंग के लिए ट्रेंड किया जा रहा है। यह रूफ टॉप के दौरान शॉर्ट रेंज और लॉन्ग रेंज फायरिंग की ट्रेनिंग है। कैसे आसमान में किसी भी संदिग्ध चीज या ड्रोन को मार गिराया जा सकता है।

लाल किले के आसपास एनएसजी के स्नाइपर तैनात

ये जवान लाल किले से 5 किलोमीटर के दायरे में रूफ टॉप पर होंगे। जब कि लाल किले के आसपास एनएसजी के स्नाइपर तैनात रहेंगे। लाल किले के अंदर बाहर परमानेंट मोर्चे बनाए गए हैं। दो दिन पहले नए पुलिस कमिश्नर ने विजिट किया है। वे सुरक्षा तैयारियों का जायजा लेने आए थे। सुरक्षा सूत्रों ने बताया कि जमीन से आसमान तक सभी मोर्चो पर सुरक्षा तैयारियां फुल चल रही हैं। जिसे 25 जुलाई को फाइनल टच दिया जाएगा। कोरोना के खतरे को देखते हुए समारोह में कितनों को बुलाया जाएगा। यह तभी क्लियर हो सकेगा। मौजूदा माहौल में फिलहाल स्कूली बच्चों को समारोह में बुलाए जाने की संभावना कम है। कोरोना की वजह से समारोह सादा होगा।

Next Story