Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

वेतन नहीं मिलने पर हिंदू राव के डॉक्टर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर

दिल्ली में हिंदू राव अस्पताल निकाय संचालित सबसे बड़ा 900 बिस्तरों वाला अस्पताल है और फिलहाल यह कोविड-19 मरीजों के इलाज के लिए समर्पित है।

वेतन नहीं मिलने पर हिंदू राव के डॉक्टर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर
X
डॉक्टर अनिश्चितकालीन हड़ताल

दिल्ली में कोरोना वायरस के मामलों में उतार-चढ़ाव जारी है ऐसे में दिल्ली के लोगों के लिए कोरोना योद्धा हर संभव प्रयास से उनकी सेवा में जुटे हुये हैं। ऐसे में हम सबका दायित्व बनता है कि उन योद्धाओं की और उनके परिवार की जिम्मेदारी ले उनको किसी प्रकार का कष्ट न होने दें। लेकिन ऐसा नहीं हो रहा है क्योंकि दिल्ली के हिंदू राव अस्पताल के डॉक्टरों ने पिछले तीन महीने से वेतन नहीं मिला है। डॉक्टरों ने ये मुद्दा उठाते हुए अस्पताल के बाहर प्रदर्शन किया और वे अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए।

डॉक्टरों ने अपनी मांगों के समर्थन में नारेबाजी की

अस्पताल के बाहर डॉक्टरों के एक समूह ने अपने हाथों में तख्तियां लेकर अपनी मांगों के समर्थन में नारेबाजी की। उनके इस प्रदर्शन में अस्पताल की नर्स भी साथ दे रही हैं। दिल्ली में हिंदू राव अस्पताल निकाय संचालित सबसे बड़ा 900 बिस्तरों वाला अस्पताल है और फिलहाल यह कोविड-19 मरीजों के इलाज के लिए समर्पित है।

कई स्वास्थ्यकर्मी कोरोना वायरस से संक्रमित

अस्पताल के कई स्वास्थ्यकर्मी कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं। अस्पताल के रेजीडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष अभिमन्यु सरदाना ने कहा कि प्रशासन तक अपनी आवाज पहुंचाने के लिए हम सांकेतिक अनिश्चितकालीन हड़ताल पर हैं। प्रशासन ने अब तक हमारी अपील पर ध्यान नहीं दिया है। इसके साथ ही ऑनलाइन विरोध भी दर्ज करा रहे हैं लेकिन हमारी कोई नहीं सुन रहा। उन्होंने कहा कि यह कोरोना वायरस मरीजों के इलाज के लिए समर्पित अस्पताल होने के कारण सेवा प्रभावित नहीं होगी। उन्होंने कहा कि डॉक्टर जिस समय ड्यूटी पर नहीं होते तभी प्रदर्शन में शामिल होते हैं।

कम हुई है कटेंनमेंट जोन की संख्या

दिल्ली में 40 से अधिक दिन तक लगातार बढ़ने के बाद 6 अक्टूबर को कोराना वायरस महामारी के कटेंनमेंट जोन की संख्या घट कर 2,697 हो गई। अगस्त के अंतिम सप्ताह से पांच अक्टूबर तक कटेंनमेंट जोन की संख्या लगातार बढ़ रही थी और उस वक्त शहर में कटेंनमेंट जोन की संख्या 2707 थी। मंगलवार को यह घटकर 2,697 रह गई। यह गिरावट 40 दिनों से भी अधिक समय बाद देखी गई है।

Next Story