Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Greta Thunberg टूलकिट मामले में बोले अरविंद केजरीवाल, दिशा रवि की गिरफ्तारी लोकतंत्र पर हमला

केजरीवाल ने ट्वीट किया कि 21 वर्षीय दिशा की गिरफ्तारी लोकतंत्र पर अभूतपूर्व हमला है। हमारे किसानों का समर्थन करना कोई अपराध नहीं है। दिशा रवि बेंगलुरु के एक निजी कॉलेज से बीबीए की डिग्री धारक हैं और वह 'फ्राइडेज़ फॉर फ्यूचर इंडिया' नामक संगठन की संस्थापक सदस्य भी हैं। आम आदमी पार्टी नेता संजय सिंह ने भी दिशा रवि की गिरफ्तारी की आलोचना की है।

Greta Thunberg टूलकित मामले में बोले अरविंद केजरीवाल, दिशा रवि की गिरफ्तारी लोकतंत्र पर हमला
X

Greta Thunberg टूलकित मामले में बोले अरविंद केजरीवाल

Greta Thunberg Toolkit Case दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने किसान आंदोलन (Farmers Protest) को भड़काने वालों पर दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की कार्रवाई पर निशाना साधा है। उन्होंने पुलिस द्वारा ग्रेटा थनबर्ग (Greta Thunberg) 'टूलकिट' मामले की जांच में जलवायु कार्यकर्ता दिशा रवि (Disha Ravi) की गिरफ्तारी (Arrested) की निंदा की है। केजरीवाल ने इससे लोकतंत्र पर अभूतपूर्व हमला करार दिया। दिशा रवि को तीन कृषि कानूनों (Farmlaws) से संबंधित किसानों के विरोध प्रदर्शन से जुड़ी 'टूलकिट' सोशल मीडिया (Social Media) पर साझा करने के आरोप में बेंगलुरु से गिरफ्तार किया गया था। जिसके बाद उन्हें 5 दिनों के लिए पुलिस रिमांड पर भेजा गया है।

केजरीवाल ने ट्वीट किया कि 21 वर्षीय दिशा की गिरफ्तारी लोकतंत्र पर अभूतपूर्व हमला है। हमारे किसानों का समर्थन करना कोई अपराध नहीं है। दिशा रवि बेंगलुरु के एक निजी कॉलेज से बीबीए की डिग्री धारक हैं और वह 'फ्राइडेज़ फॉर फ्यूचर इंडिया' नामक संगठन की संस्थापक सदस्य भी हैं। आम आदमी पार्टी नेता संजय सिंह ने भी दिशा रवि की गिरफ्तारी की आलोचना की है। साथ ही उन्होंने कहा कि तानाशाही का अंत जल्द होगा। पर्यावरण की रक्षा के लिये संघर्ष करने वाली दिशा रवि ने किसानों के हक़ में आवाज़ उठाई तो उसे देश द्रोही बना दिया गया, मोदी राज में सच बोलना और हक़ बोलना देश द्रोहGreta Thunberg Toolkit Case: Arvind Kejriwal Sanjay singh Criticise Disha ravi arrest says unprecedented attack on democracy है।

इससे पहले, 26 जनवरी को किसानों के ट्रेक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा को भड़काने और ग्रेटा थनबर्ग के 'टूलकित' मामले में दिल्ली पुलिस ने शिकंजा कसना तेज कर दिया है। कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे किसानों के प्रदर्शन से जुड़ी 'टूलकिट' सोशल मीडिया पर साझा करने के मामले में दो और लोगों पर गैर जमानती वारंट जारी कर दिया गया है। निकिता जैकब और शांतनु के खिलाफ ये कार्रवाई की गई है। क्योंकि ये दोनों ग्रेटा थनबर्ग के टूलकित मामले में शामिल है। इसलिए पुलिस अब इन दोनों की तलाश में जुट गई है।

Next Story