Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

गोपाल राय ने अधिकारियों से कहा, ठंड में प्रदूषण से निपटने के लिए बनाये योजना

एक अधिकारी ने कहा कि सर्दियों में दिल्ली की खराब वायु गुणवत्ता के लिए पराली जलाये जाने, सड़क पर धूल, निर्माण गतिविधियों, अपशिष्ट जलने, औद्योगिक एवं वाहनों के उत्सर्जन को जिम्मेदार ठहराया जा सकता है।

गोपाल राय ने अधिकारियों से कहा, ठंड में प्रदूषण से निपटने के लिए बनाये योजना
X
गोपाल राय

दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने मंगलवार को अपने विभाग और दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण कमेटी के वरिष्ठ अधिकारियों से प्रदूषण को लेकर बैठक की। उन्होंने कहा कि वे सर्दियों में उच्च वायु प्रदूषण स्तर से निपटने के लिए 21 सितंबर तक एक कार्य योजना प्रस्तुत करें। अधिकारियों ने कहा कि मंत्री ने उनसे कहा कि वे कार्य योजना तैयार करते हुए सर्दियों में खराब वायु गुणवत्ता के कारणों के बारे में पता करें।

एक अधिकारी ने कहा कि सर्दियों में दिल्ली की खराब वायु गुणवत्ता के लिए पराली जलाये जाने, सड़क पर धूल, निर्माण गतिविधियों, अपशिष्ट जलने, औद्योगिक एवं वाहनों के उत्सर्जन को जिम्मेदार ठहराया जा सकता है। मंत्री ने कहा कि प्रत्येक समस्या के लिए एक विशिष्ट योजना होनी चाहिए। कार्य योजना 21 सितंबर तक प्रस्तुत की जानी है।

राय ने जैव-चिकित्सा अपशिष्ट निस्तारण और प्रदूषण से संबंधित शिकायतों के निवारण के तरीकों पर अधिकारियों के साथ चर्चा की। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अनुसार, पंजाब और हरियाणा में किसानों द्वारा पराली जलाया जाना पिछले साल दिल्ली में वायु प्रदूषण के लिए काफी हद तक जिम्मेदार था। सरकारी आंकड़ों के अनुसार पिछले साल, पंजाब में लगभग दो करोड़ टन धान की पराली में से किसानों ने 98 लाख टन जला दी थी। इसी तरह, हरियाणा में पिछले साल 70 लाख टन पराली में से 12.3 लाख टन पराली जलायी गई थी।

Next Story
Top