Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

गाजियाबाद में अवैध हथियार फैक्ट्री का भंडाफोड़, पांच लोग गिरफ्तार, साथ ही पढ़ें नोएडा की टॉप न्यूज

पुलिस के मुताबिक, अभियुक्तों की पहचान बिहार के मुंगेर निवासी मोहम्मद मुस्तफा, स्थानीय निवासी सलाम और कैफी आलम, सलमान और मेरठ की रहने वाली असगरी नामक महिला के रूप में की गयी है। इसके अलावा एसएसपी ने बताया कि उनके दो साथी- मेरठ निवासी जहीरुद्दीन और फैयाज फरार हैं। पुलिस ने बताया कि यह अवैध हथियार फैक्ट्री मुरादनगर के शहजादपुर गांव मार्ग स्थित पुलिया के निकट चल रही थी।

गाजियाबाद में अवैध हथियार फैक्ट्री का भंडाफोड़, पांच लोग गिरफ्तार, साथ ही पढ़ें नोएडा की टॉप न्यूज
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

Ghaziabad Crime गाजियाबाद में एक अवैध हथियार फैक्ट्री का भंडाफोड़ (Illegal Arms Factory Busted) किया गया है। यहां भारी मात्रा में हथियार बरामद किए गए है। साथ ही पांच आरोपियों को गिरफ्तार (Five Arrested) भी किया गया है। जबकि दो लोग फरार हैं। पुलिस के मुताबिक, अभियुक्तों की पहचान बिहार के मुंगेर निवासी मोहम्मद मुस्तफा, स्थानीय निवासी सलाम और कैफी आलम, सलमान और मेरठ की रहने वाली असगरी नामक महिला के रूप में की गयी है। इसके अलावा एसएसपी ने बताया कि उनके दो साथी- मेरठ निवासी जहीरुद्दीन और फैयाज फरार हैं। पुलिस ने बताया कि यह अवैध हथियार फैक्ट्री मुरादनगर के शहजादपुर गांव मार्ग स्थित पुलिया के निकट चल रही थी। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) पवन कुमार ने बताया कि प्वॉइंट 32 बोर के पांच पिस्तौल, 72 कारतूस, 20 अर्द्धनिर्मित पिस्तौल, 32 बोर के 55 बैरल, 13 मैगजीन, 250 मैगजीन स्प्रिंग, 10 अर्द्धनिर्मित मैगजीन, 90 साइड प्लेट्स, 17 ट्रिगर गार्ड्स एवं मैन्यूफैक्चरिंग इंस्ट्रूमेंट्स और पिस्तौल के अन्य हिस्से बरामद किये गये हैं।

व्यक्ति ने संपत्ति विवाद में भाई का गला रेता

गाजियाबाद के कैला भट्ठा इलाके में एक व्यक्ति ने संपत्ति विवाद को लेकर तलवार से अपने भाई की कथित तौर पर गला रेतकर हत्या कर दी। पुलिस ने बताया कि आजाद ने अलीमुद्दीन की उस समय हत्या कर दी जब वह शुक्रवार रात टहलने के लिए निकला था। हमले के बाद खून से लथपथ भाई को छोड़कर आजाद तलवार लहराते हुए मौके से फरार हो गया। उन्होंने बताया कि दोनों भाइयों के बीच पिता की सिलाई की दुकान के उत्तराधिकार को लेकर लंबे समय से विवाद चल रहा था। बृहस्पतिवार रात में भी आजाद ने अलीमुद्दीन को जान से मारने की धमकी दी थी। घटना के बाद पुलिस अलीमुद्दीन को एमएमजी अस्पताल लेकर गई, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। सिंह ने बताया कि जीटी रोड कोतवाली की तीन पुलिस टीम आजाद को गिरफ्तार करने का प्रयास कर रही है।

अंतरराज्यीय वाहन चोर गैंग का खुलासा

गाजियाबाद में अंतरराज्यीय वाहन चोर गैंग का खुलासा किया गया है। पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों की निशानदेही पर दस कार, 30 गाड़ियों के ईसीएम, तीन कटे इंजन बरामद किए गए हैं। एसएसपी पवन कुमार ने बताया कि गैंग उसी मॉडल की कार चुराता था, जिसकी कबाड़ियों द्वारा डिमांड की जाती थी। इसके बाद एक्सीडेंटल व पुरानी गाड़ियों के दस्तावेजों का इस्तेमाल करते हुए चोरी की गई गाड़ियों के नंबर बदलकर उन्हें 4 से 5 लाख रुपये में बेच दिया जाता था। सरगना समेत सात आरोपी फरार हैं, जिनकी तलाश में दबिश दी जा रही है। गैंग पकड़ने वाली टीम को एसएसपी ने 25 हजार का इनाम देने की घोषणा की है। पुलिस ने थाना नरसैना, बुलंदशहर के गांव गेसूपुर निवासी प्रदीप कुमार उर्फ पिंटू व थाना नंदनगरी, दिल्ली के सुंदर नगरी निवासी अजीम को गिरफ्तार किया है। प्रदीप वर्तमान में सिहानी गेट के नेहरू नगर में रहता है।

सड़क हादसे में चालक की मौत, क्लीनर गंभीर रूप से घायल

नोएडा के ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेसवे पर शनिवार शाम को हुए एक सड़क हादसे में एक कैंटर चालक की मौत हो गई, जबकि उसका क्लीनर गंभीर रूप से घायल हो गया। मौके पर पहुंची पुलिस ने कैंटर के अंदर फंसे क्लीनर को बाहर निकाल कर अस्पताल में भर्ती कराया। पुलिस आयुक्त के मीडिया प्रभारी पंकज कुमार ने बताया कि शनिवार की शाम को थाना बादलपुर क्षेत्र के ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेसवे पर दो वाहनों में जबरदस्त टक्कर हो गई। उन्होंने बताया कि इस घटना में कैंटर में सवार चालक दिनेश निवासी जनपद करनाल हरियाणा तथा क्लीनर सागर निवासी जनपद करनाल हरियाणा गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्होंने बताया कि टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि कैंटर पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया।

29 किसानों के खिलाफ मुकदमा दर्ज

नोएडा विकास प्राधिकरण पर धरना देने जा रहे 29 किसानों के खिलाफ थाना सेक्टर-20 पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है। थाना सेक्टर-20 के प्रभारी निरीक्षक मुनीष प्रताप सिंह चौहान ने बताया कि उपनिरीक्षक विनोद कुमार की रिपोर्ट पर 29 लोगों के खिलाफ थाना सेक्टर 20 में मुकदमा दर्ज हुआ है। उन्होंने बताया कि ये लोग विभिन्न मांगों को लेकर नोएडा विकास प्राधिकरण पर धरना देने जा रहे थे। उन्होंने बताया कि जनपद में धारा 144 लागू है, इसलिए पुलिस ने इनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर इन्हें हिरासत में ले लिया है।

Next Story