Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

गाजियाबाद में मासूम को बंधक बनाकर सामूहिक दुष्कर्म, एक गिरफ्तार, साथ ही पढ़ें नोएडा की टॉप न्यूज

आरोप है कि युवकों ने किशोरी से सामूहिक दुष्कर्म किया। विरोध करने पर किशोरी की पिटाई कर दी। थानाप्रभारी महेश सिंह राणा ने बताया कि सामूहिक दुष्कर्म और पॉस्को एक्ट की धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। पुलिस ने इस मामले में एक आरोपी को हिरासत में भी लिया है। मामले की गहनता से जांच की जा रही है।

गाजियाबाद में मासूम को बंधक बनाकर सामूहिक दुष्कर्म, एक गिरफ्तार, साथ ही पढ़ें नोएडा की टॉप न्यूज
X

गाजियाबाद में मासूम को बंधक बनाकर सामूहिक दुष्कर्म

Ghaziabad Gangrape गाजियाबाद के एक गांव में खेत में चारा लेने के लिए गई मासूम (Minor Girl) को बंधक बनाकर सामूहिक दुष्कर्म करने का मामला सामने आया है। विरोध करने पर आरोपियों ने किशोरी को बेरहमी से मारपीट कर घायल कर दिया। पुलिस (Ghaziabad Police) ने मामला दर्ज कर एक आरोपी को हिरासत (One Arrested) में ले लिया है। थानाक्षेत्र के गांव में एक व्यक्ति परिवार के साथ रहता है। उसकी 15 वर्षीय बेटी 12 अगस्त को खेत में चारा लेने के लिए गई थी। जब वह आम के बाग में पशुओं के लिए घास काट रही थी इसी बीच दो युवक आए गए और उसे अगवा कर ईख के खेत में ले गए। आरोप है कि युवकों ने किशोरी से सामूहिक दुष्कर्म किया। विरोध करने पर किशोरी की पिटाई कर दी। थानाप्रभारी महेश सिंह राणा ने बताया कि सामूहिक दुष्कर्म और पॉस्को एक्ट की धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। पुलिस ने इस मामले में एक आरोपी को हिरासत में भी लिया है। मामले की गहनता से जांच की जा रही है।

यमुना सिटी में फ्लैटों की आवासीय योजना शुरू

नोएडा में यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण ने यमुना सिटी में बने हुए फ्लैटों की आवासीय योजना शुरू की है। इसमें पहले आओ और पहले पाओ के आधार पर आवंटन किया जाएगा जबकि व्यावसायिक और आवासीय भूखंडों की योजना जल्द आएगी। इसकी तैयारी शुरू हो गई है। यमुना विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी डॉ अरुण वीर सिंह ने बताया कि यमुना प्राधिकरण ने स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर रिहायशी प्लॉटों की योजना शुरू की है। उन्होंने बताया कि सेक्टर 22-डी में यह योजना निकाली गई है। फ्लैट बनकर तैयार हैं। पहले आओ और पहले पाओ के आधार पर आवंटन किया जाएगा। इस योजना में दो तरह के 54.75 वर्ग मीटर और 99.86 वर्ग मीटर के फ्लैट हैं। उन्होंने बताया कि यमुना प्राधिकरण सेक्टर-18 में व्यावसायिक भूखंडों की योजना लाएगा। इसके अलावा आवासीय भूखंडों की योजना भी लायी जाएगी। इसके लिए भी नियोजन विभाग ने तैयारियां शुरू कर दी हैं।

ग्रेटर नोएडा की रहने वाली महिला की नैनीताल में हत्या

ग्रेटर नोएडा वेस्ट से नैनीताल के मल्लीताल स्थित एक होटल में सोमवार सुबह पहुंची। महिला का शव नग्नावस्था में मिला। रविवार की रात महिला के साथ होटल में ठहरे युवक के फरार होने के बाद फिलहाल पुलिस की प्रारंभिक जांच में महिला की हत्या किये जाने की बात सामने आ रही है। पुलिस ने युवक के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है। कोतवाली प्रभारी अशोक कुमार सिंह पुलिस के साथ होटल पहुंचे और महिला के शव को कब्जे में लेने के बाद होटल के कमरे को सील कर दिया। एसएसपी प्रीति प्रियदर्शनी और एसपी क्राइम देवेंद्र पींचा ने भी होटल पहुंचकर जांच-पड़ताल की। सोमवार दोपहर बाद हल्द्वानी से फोरेंसिक टीम नैनीताल पहुंची। टीम में शामिल हेम चंद्र, दिनेश गिरि और ममता ने होटल के कमरे में अलग-अलग स्थानों पर गहनता से जांच की और फिंगर प्रिंट के नमूने एकत्र किये। जानकारी के मुताबिक ग्रेटर नोएडा निवासी महिला, ऋषभ उर्फ इमरान, श्वेता शर्मा और अलमास उल हक 13अगस्त को उत्तराखंड के रामनगर पहुंचे थे और एक रिजॉर्ट में ठहरे थे। 14 अगस्त को वह नैनीताल आए।

सोशल मीडिया पर दोस्ती कर साइबर ठग ने उड़ाए चार लाख

नोएडा में एक साइबर ठग ने विदेशी बनकर महिला से सोशल मीडिया के माध्यम से दोस्ती कर उसे कीमती तोहफा भेजने के नाम पर 4 लाख रुपये ठग लिए है। ठगी की जानकारी होने पर पीड़िता ने कोतवाली सेक्टर-20 पुलिस से मामले की शिकायत की है। जानकारी के मुताबिक नोएडा के सेक्टर-15 निवासी आकांक्षा ने कोतवाली सेक्टर 20 पुलिस से शिकायत की है कि कुछ दिन पहले सोशल मीडिया के माध्यम से उसकी दोस्ती एक युवक से हुई थी। युवक ने खुद को इंग्लैंड का निवासी बताया था। इस दौरान एक दिन युवक ने आकांक्षा को एक कीमती गिफ्ट भेजने के बहाने उसके अकाउंट से चार लाख रुपये की ठगी कर ली। पुलिस मामला दर्ज कर जांच में जुट गई है।

अवैध यूनिपोल लगाने वालों से जुर्माना वसूलने के लिए आरसी जारी

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने क्षेत्र में अवैध रूप से यूनिपोल लगाने वालों से जुर्माने वसूलने के लिए 'रिकवरी सर्टिफिकेट' (आरसी) जारी किए हैं। अवैध्र रूप से यूनीपोल लगाने वाले लोगों के खिलाफ प्राधिकरण ने जुर्माना लगाया था लेकिन इन्होंने जुर्माना नहीं भरा। कंपनियों और प्रतिष्ठानों पर यह आरसी जिला प्रशासन को भेज दी है और अब वह इनसे वसूली करेगा। ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी नरेंद्र ने बताया कि ग्रेटर नोएडा क्षेत्र में लगे अवैध यूनिपोल के खिलाफ प्राधिकरण लगातार अभियान चला रहा है। प्राधिकरण अवैध यूनिपोल लगाने वालों पर आए दिन जुर्माना लगाता रहता है। 2018 से अब तक करीब 70 संस्थाओं और प्रतिष्ठानों पर 3.07 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया गया है, लेकिन ये जुर्माना राशि नहीं दे रहे हैं। उन्होंने बताया कि जिन पर जुर्माना लगाया गया है उनमें शिक्षण संस्थान और बिल्डरों की संख्या अधिक है। कुछ संस्थाओं पर तो 2018 से ही जुर्माने की रकम लंबित हैं।

Next Story