Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

गाजियाबाद में बदमाशों ने सपा नेता को मारी गोली, हालत नाजुक, साथ ही पढ़ें नोएडा की टॉप न्यूज

पुलिस ने बताया कि परिजनों से हुई पूछताछ में पता चला है कि सोमवार सुबह करीब 11 बजे वह घर के पास किसी काम से निकले थे। इस दौरान अज्ञात बदमाशों ने उनके ऊपर फायरिंग कर दी। पुलिस केस दर्ज कर मामले की जांच में जुट गई है।

गाजियाबाद में बदमाशों ने सपा नेता को मारी गोली, साथ ही पढ़ें नोएडा की टॉप न्यूज
X

गाजियाबाद में बदमाशों ने सपा नेता को मारी गोली

Ghaziabad Murder गाजियाबाद के लोनी बॉर्डर (Loni Border) में बदमाशों ने सपा के नेता (Miscreants Shot at SP Leader) दिनेश नागर को गोली मार दी। गोली लगने के बाद नेता गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। परिजनों ने उन्हें दिल्ली के अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उनकी हालत नाजुक बनी हुई है। घटना की सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस (Ghazibad Police) ने पीड़ित का बयान दर्ज किया है। पुलिस के मुताबिक, पीड़ित सपा नेता दिनेश नागर पंचवटी कॉलोनी में अपने परिवार के साथ रहते हैं। वह पूर्व में समाजवादी पार्टी की लोहिया वाहनी में जिलाध्यक्ष रह चुके हैं। इसके अलावा वह गुर्जर समाज के लोगों की समस्याओं को लेकर भी मुखर रहते हैं। पुलिस ने बताया कि परिजनों से हुई पूछताछ में पता चला है कि सोमवार सुबह करीब 11 बजे वह घर के पास किसी काम से निकले थे। इस दौरान अज्ञात बदमाशों ने उनके ऊपर फायरिंग कर दी।

नोएडा में अवैध निर्माण के खिलाफ बड़ी कार्रवाई

नोएडा प्रशासन ने अवैध निर्माण के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की। इन जगह बिल्डर ने मंजूर नक्शे से अलग हटकर क्योस्क, पार्किंग और अन्य निर्माण कर रखा था। करीब 8 क्योस्क और दुकानों के आगे बने हिस्से को तोड़ा गया। इस दौरान दुकानदारों ने विरोध भी किया था। इन सोसाइटी में रहने वाले लोगों और अपार्टमेंट एसोसिएशन ने काफी समय से इस बारे में नोएडा प्राधिकरण में शिकायत कर रखी थी। नोएडा प्राधिकरण के अधिकारियों ने बताया कि अजनारा सोसाइटी के लिए 23 अप्रैल 2018 को जारी किए गए अधिभोग मानचित्रों में टावर संख्या एल और वाणिज्यिक ब्लॉक के सामने सेट बेक में चारदीवारी के साथ हरित क्षेत्र दर्शाया गया है लेकिन मौके पर चारदीवारी को हटाकर क्योस्क लगाकर इसको व्यावसायिक उपयोग में लाया जा रहा था। इन क्योस्क को सोमवार को ध्वस्त किया गया।

टीकाकरण सेंटर पर लोगों का हंगामा

नोएडा के एक टीकाकरण सेंटर पर लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। क्योंकि कोरोना से बचाव के लिए टीका लेने गए लोगों को पोर्टल की दिक्कत के कारण जिला अस्पताल में सोमवार सुबह 2 घंटे तक टीकाकरण बाधित रहा। टीका लगवाने वालों को अस्पताल में भारी भीड़ उमड़ पड़ी। महिला स्पेशल बूथ पर दोपहर तक लंबी कतारें लगी रहीं। देर तक इंतजार करने के बाद भी नंबर नहीं आया तो कई लोग वापस लौट गए। इस दौरान लोगों ने हंगामा भी किया। अस्पताल में सुबह 10 से शाम 4 बजे तक टीकाकरण का समय निर्धारित है। हालांकि, सुबह 6 बजे से ही बिना स्लॉट बुक कराने वालों को भीड़ लगनी शुरू हो जाती है। सोमवार को सुबह 9 बजे से टीकाकरण शुरू होना था, लेकिन पोर्टल में तकनीकी दिक्कत से दो घंटे तक रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया बाधित रही।

हत्यारोपी पर कई धाराओं में मुकदमा दर्ज, महिला की थी हत्या

नाएडा के थाना सेक्टर 49 क्षेत्र के सर्फाबाद गांव में रहने वाली एक महिला की हत्या के सिलसिले में गिरफ्तार आरोपी के खिलाफ धोखाधड़ी तथा विदेशी अधिनियम सहित विभिन्न धाराओं में भी मुकदमा दर्ज किया गया है। थाना सेक्टर 49 के भारी निरीक्षक विनोद कुमार सिंह ने बताया कि सर्फाबाद गांव की फातिमा बीबी की अगस्त माह में हत्या कर दी गई थी। इस मामले की जांच कर रही थाना सेक्टर 49 पुलिस ने 11 सितंबर को बाबूलाल मिया नामक आरोपी को गिरफ्तार किया। उन्होंने बताया कि जांच के दौरान पुलिस को पता चलाहै कि आरोपी बांग्लादेश का मूल निवासी है। बांग्लादेश में उसकी पत्नी तथा 4 बच्चे भी हैं। उसने फर्जी तरीके से नोएडा के गेझा गांव के पत्ते से आधार कार्ड तथा उसके आधार पर अपना पासपोर्ट बनवा लिया था।

बुजुर्ग दंपती को नशीला पदार्थ पिलाकर घरेलू सहायिका ने घर में की चोरी

नोएडा के सेक्टर-27 में घरेलू सहायिका ने बुजुर्ग दंपती को नशीला पदार्थ पिलाकर बेहोश किया और घर से साढ़े तीन लाख रुपये, जेवर व अन्य सामान चुराकर भाग गई। सोमवार दोपहर को जब तीसरी घरेलू सहायिका कपड़े धोने आई, तब घटना की जानकारी मिली। मामले में कोतवाली सेक्टर-20 पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज करने के बाद जांच शुरू कर दी है। सेक्टर-27 के डी ब्लॉक में 70 वर्षीय जनक सचदेवा पत्नी सुदेश के साथ रहते हैं। जनक कर अधिवक्ता हैं। उनके घर एक घरेलू सहायिका रोशनी पहले से रहती है। कुछ दिन पहले जनक ने कार साफ करने वाले कर्मचारी से एक और घरेलू सहायिका की जरूरत की बात कही थी। 10 दिन पहले उसने बिना सत्यापन कराए नेपाली युवती लक्ष्मी को उनके घर काम पर लगा दिया। रविवार को घर पर जनक, उनकी पत्नी और दोनों घरेलू सहायिका थीं।

Next Story