Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

12वीं फेल युवक ने ई कॉमर्स कंपनी अमेजन को ऐसे लगाया करोड़ों रुपये का चूना, कहानी जानकर पुलिस भी रह गई हैरान, साथ ही पढ़ें नोएडा की टॉप न्यूज

यान के अनुसार कि दोनों ने फर्जी पहचान का इस्तेमाल कर अमेजन की वेबसाइट पर कम से कम 99 अकाउंट बनाए थे। उन्होंने विभिन्न बैंकों के कई बैंक खातों को इन अमेजन खातों से जोड़ा था, जिनका उपयोग वे इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों का ऑर्डर करने के लिए करते थे। ये ऑर्डर प्रीपेड या कैश ऑन डिलीवरी (सीओडी) आधारित होते थे।

अमेजन को लाखों रुपये का चूना लगाने वाले दो आरोपी गिरफ्तार, साथ ही पढ़ें नोएडा की टॉप न्यूज
X

अमेजन को लाखों रुपये का चूना लगाने वाले दो आरोपी गिरफ्तार

Noida Crime नोएडा में साइबर क्राइम (Cyber Crime) का ग्राफ बढ़ता जा रहा है। पुलिस (Noida Police) ने एक बड़ी अमेजन (Amazon) को लाखों रुपये का चूना लगाने के आरोप में दो लोगों को गिरफ्तार (Arrested) किया है। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। दोनों आरोपी हरियाणा के हिसार के रहने वाले हैं, जिन्हें नोएडा में साइबर क्राइम पुलिस थाना के अधिकारियों ने गिरफ्तार किया। आरोपियों की पहचान बीएससी स्नातक अनिल उर्फ आलोक सिंह (27) और 12वीं पास सचिन जैन (30) के रूप में हुई है। बयान के अनुसार कि दोनों ने फर्जी पहचान का इस्तेमाल कर अमेजन की वेबसाइट पर कम से कम 99 अकाउंट बनाए थे। उन्होंने विभिन्न बैंकों के कई बैंक खातों को इन अमेजन खातों से जोड़ा था, जिनका उपयोग वे इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों का ऑर्डर करने के लिए करते थे। ये ऑर्डर प्रीपेड या कैश ऑन डिलीवरी (सीओडी) आधारित होते थे।

अगस्त में हो सकता है नोएडा एयरपोर्ट का शिलान्यास

नोएडा एयरपोर्ट का शिलान्यास अगस्त माह के अंत में हो सकता है। एयरपोर्ट के उद्घाटन के लिए भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आने की संभावना है। इस बात को ध्यान में रखकर गौतम बुद्ध नगर के पुलिस आयुक्त आलोक सिंह, यमुना प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी डाक्टर अरुण वीर सिंह तथा जेवर के विधायक धीरेंद्र सिंह ने संभावित कार्यक्रम स्थल का निरीक्षण किया। कार्यक्रम रनहेरा गांव के पास रखा जा सकता है। जेवर के विधायक धीरेंद्र सिंह ने बताया कि जल्दी ही मेरठ के मंडलायुक्त सुरेंद्र सिंह और लखनऊ से मुख्यमंत्री कार्यालय के अधिकारी इस जगह का दौरा करेंगे। उम्मीद है कि अगले एक सप्ताह में शिलान्यास की तारीख निर्धारित कर दी जाएगी। यमुना विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ अरुण वीर सिंह ने बताया कि जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट का निर्माण शुरू करने के लिए सभी जरूरी औपचारिकताएं पूरी हो चुकी हैं। अब केवल प्रधानमंत्री का कार्यक्रम मिलने की देरी है।

जीएसटी की चोरी में दो गिरफ्तार

गाजियाबाद में केंद्रीय जीएसटी विभाग (सीजीएसटी) ने छापेमारी कर 115 करोड़ के कागजी कारोबार का खुलासा किया है। दिल्ली- एनसीआर में 14 फर्जी फर्म से कागजी कारोबार कर करीब 17 करोड़ की जीएसटी चोरी का मामला सामने आया है। इस मामले में टीम ने इंदिरापुरम के एक मॉल में दफ्तर चला रहे दो कारोबारियों को गिरफ्तार भी कर लिया गया है। अदालत ने दोनों कारोबारियों को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। इंदिरापुरम के दो कारोबारी अनिल कुमार दूबे और प्रवीण राय ने साझेदारी में मेसर्स शुम स्टार ग्लोबल बिजेनेस सॉल्यूशन लिमिटेड नामक फर्म बना रखी है। इस पंजीकृत फर्म का दफ्तर इंदिरापुरम के मॉल में बना रखा है। विभाग के आयुक्त आलोक झा ने बताया कि जीएसटीएन पोर्टल पर निगरानी में मेसर्स शुम स्टार ग्लोबल बिजनेस सॉल्यूशन लिमिटेड फर्म का फर्जीवाड़ा पकड़ में आया।

विवाहिता ने की फांसी लगाकर आत्महत्या

नोएडा के सेक्टर-49 थाना क्षेत्र के सेक्टर-74 की 'सुपरटेक केपटाउन सोसायटी' में रहने वाली एक विवाहिता ने सोमवार को कथित तौर पर आत्महत्या कर ली। अपर पुलिस उपायुक्त (जोन प्रथम) रणविजय सिंह ने बताया कि सेक्टर-49 थाना क्षेत्र के सेक्टर-74 की 'सुपरटेक केपटाउन सोसायटी' में रहने वाली खुशबू भटनागर सोमवार को उनके फ्लैट में पंखे से लटकी मिली। खुशबू के पति विभोर सक्सेना और उनके पिता राजीव भटनागर गंभीर हालत में उन्हें नोएडा के कैलाश अस्पताल ले गए, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। मौत के उचित कारण का पता लगाने के लिए शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। उन्होंने बताया कि मामले में खुशबू के पिता राजीव भटनागर ने थाना सेक्टर-49 में शिकायत दर्ज कराई है और उसके पति वभोर सक्सेना तथा उसके परिवार के लोगों पर खुशबू को दहेज के लिए प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है। पुलिस शिकायत के आधार पर मामले की जांच कर रही है। पति को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

ऑनलाइन ठगी से बचने के लिए गाजियाबाद पुलिस ने 132 मोबाइल नंबर किए जारी

गाजियाबाद में मोबाइल से फोन कर ऑनलाइन ठगी हुई है तो आप गाजियाबाद पुलिस से संपर्क कर सकते हैं। गाजियाबाद पुलिस 132 मोबाइल नंबर जारी किए हैं, जिनसे फोन कर लोगों से ठगी की जाती थी। गाजियाबाद पुलिस ने अपील की है कि पीड़ित लोग कोतवाली पुलिस से संपर्क कर सकते हैं। पिछले सप्‍ताह गाजियाबाद पुलिस पुलिस और साइबर सेल ने संयुक्‍त रूप से कार्रवाई करते हुए जीरो फीसदी ब्‍याज पर लोन दिलाने और पॉलिसी मैच्‍योरिटी होने पर उसका भुगतान जल्‍द कराने के नाम पर लोगों के पास कॉल कर ठगी करने के मामले का भंडाफोड़ किया था। कुछ लोग इनके झांसे में आ जाते थे और ठगी का शिकार हो जाते थे। पुलिस ने बताया कि आरोपियों ने पूछताछ में कबूला है कि अभी तक हजारों लोगों से लाखों रुपए से अधिक की ठगी कर चुके हैं। पुलिस ने इस मामले में 14 युवतियों समेत 30 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है।

Next Story