Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

गौतमबुद्ध नगर में अवैध संबंध के शक में पति ने पत्नी को दी दर्दनाक मौत, साथ ही पढ़ें नोएडा की टॉप न्यूज

पुलिस के अनुसार, बुधवार शाम वह रंजीता को इंदिरापुरम थाना क्षेत्र में दवाई दिलाने गया था। टेंपो से उतरने के बाद रंजीता किसी से फोन बात करते हुए आगे चली गई। कुछ देर बाद लालता प्रसाद पीछे से पहुंचा तो उसने रंजीता को किसी युवक के साथ देख लिया।

गौतमबुद्ध नगर में अवैध संबंध के शक पति ने पत्नी को दी दर्दनाक मौत, साथ ही पढ़ें नोएडा की टॉप न्यूज
X

गौतमबुद्ध नगर में अवैध संबंध के शक पति ने पत्नी को दी दर्दनाक मौत

Noida Murder नोएडा में अवैध संबंध के शक में पति ने पत्नी (Husband Killed Wife) की गला दबाकर हत्या कर दी। इसके बाद आरोपी ने शव को नाले में फेंक दिया। मृतका की पहचान रंजीता के रूप में हुई, जिसके बाद फेस 3 थाना पुलिस (Noida police) ने उसके पति को हिरासत में ले लिया। हालांकि, मामला इंदिरापुरम थाने से जुड़ा होने के कारण इंदिरापुरम पुलिस आरोपी को अपने साथ ले गई। नोएडा फेज-3 थाना क्षेत्र के छजारसी गांव में रहने वाले लालता प्रसाद की 7 माह पहले कन्नौज निवासी 23 वर्षीय रंजीता से लव मैरिज हुई थी। लालता प्रसाद छजारसी में अपने भाई की मिठाई की दुकान पर ही बैठता है। लालता प्रसाद को रंजीता के अवैध संबंधों का शक था। पुलिस के अनुसार, वह रंजीता को इंदिरापुरम थाना क्षेत्र में दवाई दिलाने गया था। टेंपो से उतरने के बाद रंजीता किसी से फोन बात करते हुए आगे चली गई। कुछ देर बाद लालता प्रसाद पीछे से पहुंचा तो उसने रंजीता को किसी युवक के साथ देख लिया।

रिश्वत लेने के आरोप में तीन पुलिसकर्मी निलंबित

नोएडा में स्थित एक होटल में ठहरे युवक-युवती के साथ मारपीट करने और उनसे तथा होटल संचालक से रिश्वत लेने के आरोप में पुलिस आयुक्त आलोक सिंह ने तीन पुलिसकर्मियों को शनिवार को निलंबित कर दिया। अपर पुलिस उपायुक्त (जोन तृतीय) विशाल पांडे ने बताया कि थाना बीटा-दो क्षेत्र के एक होटल में बुधवार को एक युवक-युवती आ कर ठहरे थे। उन्होंने बताया कि इसी बीच एक पुलिसकर्मी वहां पर गया, तथा युवक-युवती के रुकने की जानकारी हासिल कर, उसने अपने अन्य पुलिसकर्मी साथियों को मौके पर बुलाया और वे लोग होटल संचालक व युवक-युवती को लेकर परी चौक पुलिस चौकी पहुंचे। अपर उपायुक्त ने बताया कि चौकी में युवक और युवती के परिजन को भी बुलाया गया और उन्हें छोड़ने के एवज में परिजन तथा होटल संचालक से 70 हजार रुपए रिश्वत के तौर पर लिए गए। उन्होंने बताया कि सोशल मीडिया पर घटना का वीडियो वायरल होने के बाद इसकी जांच सहायक पुलिस आयुक्तप्रवीण कुमार को सौंपी गई।

गाजियाबाद साइबर ठगों के निशाने पर, चार साल में कई गुना बढ़ा साइबर क्राइम

गाजियाबाद साइबर ठगों के निशाने पर हैं। पिछले चार साल में यहां साइबर ठगी के मामले चार गुना बढ़ गए हैं। 2018 में हर माह साइबर ठगी के अधिकतम 140 मामले आते थे। अब आंकड़ा 550 पार पहुंच गया है। जबकि अन्य अपराध का ग्राफ नीचे गिरा है। लूट, हत्या, डकैती, चोरी और अपहरण की वारदात लगभग आधी हो गई हैं। साइबर सेल के आंकड़ों के मुताबिक, 2018 में जनवरी से जुलाई तक साइबर ठगी के 867 मामले सामने आए थे, जबकि इस साल सात माह में यह आंकड़ा 3693 पहुंच गया है। सर्वाधिक ठगी बैकिंग फ्रॉड व क्रेडिट कार्ड के जरिये हुई। 2018 में सात माह में 273 मामले आए तो 2021 में बढ़कर 1291 पहुंच गए हैं। दूसरे नंबर पर एटीएम के जरिये हुए ठगी के मामले हैं। 2018 में जनवरी से जुलाई तक इस तरह के 116 केस आए, जबकि इस साल इस अवधि में 380 केस सामने आ चुके हैं।

साइबर ठगों ने खाते से उड़ाए 70 हजार रुपये, मामला दर्ज

नोएडा में एक व्यक्ति ने साइबर ठगों के खिलाफ धोड़ाधड़ी करके उसके खाते से 71,000 रुपए निकालने का मामला दर्ज कराया है। थाना सेक्टर 49 के प्रभारी निरीक्षक विनोद कुमार सिंह ने बताया कि सेक्टर 74 में रहने वाले हरीश सचान ने रिपोर्ट दर्ज कराई है, कि उनकी बेटी के फोन पर एक संदेश आया,जिसमें केवाईसी अद्यतन कराने के लिए कहा गया था। सिंह ने बताया कि शिकायत में कहा गया कि इस दौरान जैसे ही उन्होंने एक ऐप डाउनलोड किया उनके खाते से करीब 71 हजार रुपये निकल गए। थाना प्रभारी ने बताया कि घटना की रिपोर्ट दर्ज कर पुलिस मामले की जांच कर रही है। इसी प्रकार का एक और मामला सेक्टर 21 में सामने आया है। थाना सेक्टर 20 में एक महिला ने साइबर ठगों के खिलाफ केवाईसी अद्यतन करने के नाम पर उनके खाते से 1,45,000 रुपए निकालने का मामला दर्ज कराया है। थाना सेक्टर 20 के प्रभारी निरीक्षक मनीष प्रताप सिंह चौहान ने बताया कि घटना की रिपोर्ट दर्ज कर पुलिस मामले की जांच कर रही है।

Next Story