Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

गौतम बुद्ध नगर जिले में 30 जून तक बढ़ाया गया कर्फ्यू, साथ ही पढ़ें नोएडा की टॉप न्यूज

इसके अलावा किसी भी प्रकार की सामाजिक, राजनीतिक, खेल, मनोरंजन, सांस्कृतिक, धार्मिक, उत्सव से संबंधित गतिविधियां बिना अनुमति के नहीं होंगी। विवाह समारोह में 25 और अंतिम संस्कार में 20 से अधिक लोगों के शामिल होने की अनुमति नहीं होगी।

गौतम बुद्ध नगर जिला में 30 जून तक कर्फ्यू बढ़ा, साथ ही पढ़ें नोएडा की टॉप न्यूज
X

गौतम बुद्ध नगर जिला में 30 जून तक कर्फ्यू बढ़ा

Noida Curfew Extended नोएडा में कोविड-19 महामारी (Covid Pandemic) की स्थिति को देखते हुए गौतम बुद्ध नगर जिला में 30 जून तक कर्फ्यू लगाया गया है। एक अधिकारी ने इस बारे में बताया। अपर पुलिस उपायुक्त (कानून व्यवस्था) श्रद्धा नरेंद्र पांडे ने बताया कि कोरोना वायरस महामारी के चलते उत्तर प्रदेश सरकार (UP Government) ने आपदा घोषित किया है और आंशिक कर्फ्यू लगाया गया है। उन्होंने बताया कि लॉकडाउन (Lockdown) बढ़ने की वजह से 30 जून तक गौतम बुद्ध नगर जिला में धारा 144 लागू कर दी गई है। इस दौरान आवश्यक सेवाओं पर किसी प्रकार की रोक नहीं होगी। उन्होंने बताया कि इसके अलावा किसी भी प्रकार की सामाजिक, राजनीतिक, खेल, मनोरंजन, सांस्कृतिक, धार्मिक, उत्सव से संबंधित गतिविधियां बिना अनुमति के नहीं होंगी। विवाह समारोह में 25 और अंतिम संस्कार में 20 से अधिक लोगों के शामिल होने की अनुमति नहीं होगी।

अस्पतालों को मरीजों से तय राशि से अधिक वसूल की गयी रकम लौटाने के आदेश

कोविड-19 की दूसरी लहर में आपदा को अवसर में बदलने वाले दो और अस्पतालों के खिलाफ जिला प्रशासन ने कार्रवाई की है और इनके द्वारा 4 मरीजों से वसूली गई ज्यादा धनराशि जिला प्रशासन ने वापस करने का आदेश दिया है। इससे पूर्व छह अस्पतालों के खिलाफ जिला प्रशासन ने कार्रवाई की थी। जिला सूचना अधिकारी राकेश चौहान ने बताया कि जिलाधिकारी सुहास एल वाई के निर्देश पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी एवं उनकी टीम के अधिकारियों द्वारा सख्त कदम उठाते हुए चार और मरीजों से कोरोना के इलाज में निजी अस्पतालों के लिये निर्धारित की गई दरों से अधिक धनराशि वसूलने के मामले की जांच करने के बाद संबंधित अस्पतालों को, संबंधित मरीजों को अतिरिक्त धनराशि वापस कराने की कार्यवाही सुनिश्चित की गई है।

गाजियाबाद में येलो, ब्लैक और व्हाइट फंगस से संक्रमित मरीज की मौत

गाजियाबाद में कोरोना वायरस से संक्रमित और ब्लैक, व्हाइट, येलो फंगस से ग्रस्त 59 वर्षीय एक मरीज की मृत्यु हो गयी। मरीज का उपचार कर रहे डॉक्टर ने शनिवार को इस बारे में बताया। शहर के राजनगर इलाके में हर्ष अस्पताल में आंख, नाक, गला (ईएनटी) रोग विशेषज्ञ डॉ बी पी त्यागी ने बताया कि कुंवर सिंह का इलाज चल रहा था। लेकिन टॉक्सेमिया (खून का विषाक्त होना) की वजह से शुक्रवार शाम साढ़े सात बजे उनकी मृत्यु हो गई। डॉक्टर ने बताया कि सिंह शहर के संजय नगर से वकील थे और हाल में उन्होंने कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद उनसे संपर्क किया था। त्यागी ने कहा कि 24 मई को एंडोस्कोपी जांच के दौरान उनमें ब्लैक और व्हाइट के अलावा येलो फंगस का भी पता चला था।

संदिग्ध परिस्थिति में दंपति के शव पंखे से लटके मिले

गाजियाबाद के इंदिरापुरम के मकनपुर में सोमवार को संदिग्ध परिस्थिति में दंपति के शव पंखे से लटके मिले। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिए हैं। पुलिस को मौके से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। हालांकि मकान का दरवाजा अंदर से बंद था। मूलरूप से बुलंदशहर के रहने वाला राम कुमार (25) अपनी पत्नी काजल (22) के साथ मकनपुर में किराये का कमरा लेकर रहता था। घरों में खाना बनाने और साफ सफाई का काम करने वाले राम कुमार और उनकी पत्नी काजल का शव बंद कमरे में पंखे पर रस्सी के सहारे लटके हुए मिले। पुलिस ने दरवाजे का लॉक तोड़कर शवों को बाहर निकाला। इस दौरान पुलिस ने कमरे में तलाशी भी ली। पुलिस को मौके से कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है।

नोएडा और ग्रेटर नोएडा में फिर से टिड्डियों का हमला

नोएडा में शाम को सूरज ढलते ही ग्रेटर नोएडा से सटे गांवों में डीजे बजाए जाएंगे। जितनी तेज आवाज में मुमकिन हो डीजे पर गाने बजाए जाएंगे। गौतमबुद्ध नगर जिला प्रशासन ने यह आदेश जारी किया है। इसके साथ ही मशालें भी जलाई जाएंगी। टीन के डिब्बे भी जोर-जोर से बजाए जाएंगे। नगाड़े और थाली बजाने के निर्देश भी दिए गए हैं। टिड्डियों के संभावित हमलों को देखते हुए यह तैयारी की जा रही है। बीते साल भी जून में ही लाखों टिड्डियों के दल ने खेतों पर हमला किया था। टिड्डियों और उनके अंडों को भी कैसे खत्म किया जाए यह उपाय भी जिला कृषि रक्षा अधिकारी ने किसानों को बताए हैं।

Next Story