Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले गैंग का पर्दाफाश, 7 आरोपी गिरफ्तार, साथ ही पढ़ें नोएडा की टॉप न्यूज

एडीसीपी रणविजय सिंह ने बताया कि 7 लोग पकड़े गए हैं। ये लोग कहीं से डेटा चोरी करके मोबाईल नबर पर फोन करके नौकरी देने के नाम पर फ्रॉड कर रहे थे। ये लोग रजिस्ट्रेशन, डॉक्यूमेंट्स प्रोसेस करने के नाम पर पैसा लेकर भाग जाते थे। ये मिलकर सेक्टर 3 में इसी तरह का एक ऑफिस चला रहे थे। प्री-एक्टिवेटेड सिम, मोबाईल और डॉक्यूमेंट्स बरामद किए गए हैं।

नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले गैंग का पर्दाफाश, 7 आरोपी गिरफ्तार, साथ ही पढ़ें नोएडा की टॉप न्यूज
X

नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले गैंग का पर्दाफाश

Noida Crime उत्तर प्रदेश के नोएडा सेक्टर 20 की पुलिस टीम (Noida Police) ने नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले एक गिरोह (Gang Busted) का पर्दाफाश किया है। एडीसीपी रणविजय सिंह ने बताया कि 7 लोग पकड़े (7 Arrested) गए हैं। ये लोग कहीं से डेटा चोरी करके मोबाईल नबर पर फोन करके नौकरी देने के नाम पर फ्रॉड कर रहे थे। ये लोग रजिस्ट्रेशन, डॉक्यूमेंट्स प्रोसेस करने के नाम पर पैसा लेकर भाग जाते थे। ये मिलकर सेक्टर 3 में इसी तरह का एक ऑफिस चला रहे थे। प्री-एक्टिवेटेड सिम, मोबाईल और डॉक्यूमेंट्स बरामद किए गए हैं। ये गाज़ियाबाद, मेरठ, बागपत के रहने वाले हैं। एफआईआर दर्ज़ करके कार्रवाई कर रहे हैं। इन्होंने पूर्व में कई लोगों के साथ ठगी को अंजाम दिया है।

कैब चालक ने मसूरी में की आत्महत्या

गाजियाबाद का रहने वाला मसूरी में कैब चालक अब्दुल वाहिद ने आत्महत्या कर ली। परिजनों के मुताबिक अब्दुल ने कीटनाशक ऑनलाइन मंगाया था। जिसका रेपर कैब में पड़ा मिला। पीड़ित परिवार पर उस वक्त दुखों का पहाड़ टूट पड़ा जब घटना पर शोक जताने आ रहे अब्दुल वाहिद के मामा इंतजार (35) की मुरादनगर क्षेत्र में पेरिफेरल एक्सप्रेसवे पर सड़क हादसे में मौत हो गई। मसूरी में खांचा रोड पर रहने वाले फारूख ट्रक चालक हैं। चार बेटों में तीसरे नंबर का बेटा अब्दुल वाहिद ओला कैब चलाता था। शुक्रवार शाम वह घर से निकल गया। रात साढ़े 10 बजे वह घर पहुंचा तो उसकी हालत खराब थी। पूछने पर उसने परिजनों को जहर खाने की बात कही। इसके बाद परिजनों के हाथ-पांव फूल गए और अब्दुल वाहिद को सर्वोदय अस्पताल में भर्ती कराया। रात करीब दो बजे उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई।

कई गुर्जर नेताओं को पुलिस ने किया गिरफ्तार

ग्रेटर नोएडा के दादरी में गुर्जरों की पंचायत में शामिल होने जा रहे 20-22 गुर्जर नेताओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आज दादरी समेत उत्तर प्रदेश के कई जिलों और भारत के कई राज्यों में गुर्जरों की पंचायत हो रही है। रविवार की सुबह 10 बजे दादरी में गुर्जर समाज की पंचायत में शामिल होने जा रहे अखिल भारतीय गुर्जर फ्रंट के अध्यक्ष नवीन भाटी और अन्य लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उनके साथ नरेंद्र गुर्जर, वीरेंद्र गुर्जर, पप्पू प्रमुख, बचन सिंह, अनिरुद्ध प्रताप, अवनीश भाटी अशांत भाटी और रविंद्र भाटी समेत कई लोग मौजूद हैं। इस मामले के बाद गुर्जर समाज के लोगों में स्थानीय प्रतिनिधि और पुलिस-प्रशासन के खिलाफ भारी रोष व्याप्त हो गया है। गौतमबुद्ध नगर पुलिस पूरे जनपद में गुर्जर समाज की पंचायत होने पर रोक लगा दी है। जहां कहीं भी गुर्जरों की पंचायत हो रही है।

सोसाइटी के लोगों ने बिल्डर के खिलाफ प्रदर्शन

ग्रेटर नोएडा वेस्ट में स्थित पंचशील ग्रीन्स-1 सोसाइटी के निवासियों ने आज रजिस्ट्री नहीं होने के विरोध और बुनियादी सुविधाओं की मांग को लेकर बिल्डर के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया। निवासियों ने खूब नारेबाजी की और बिल्डर के खिलाफ आक्रोश जताया। हाथों में बैनर-पोस्टर लिए निवासियों ने अपना विरोध दर्ज कराया। साथ ही नए खरीदारों को सावधानी बरतते हुए घर खरीदने की सलाह दी। इस सोसाइटी के निवासी लंबे वक्त से रजिस्ट्री करवाने और मूलभूत सुविधाएं देने की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं। लेकिन प्रशासन-प्राधिकरण चुप हैं। बिल्डर अपनी मनमानी कर रहा है। इससे निवासियों में रोष बढ़ता जा रहा है। आज हुए प्रदर्शन में नवीन सिंह, प्रकाश सिंह, विनय दुबे, अनुज सिंहा, अभय कुमार, केबी वर्मा, आशीष त्रिपाठी, नीरज द्विवेदी, अजय कुमार और संजय मिश्रा समेत अन्य निवासी शामिल रहे।

मादक पदार्थों और अश्लील डांस पार्टी आयोजित करने वाले गिरफ्तार

नोएडा में मादक पदार्थों की दिल्ली-एनसीआर में सप्लाई और अरेबियन नाइट की तर्ज पर अश्लील डांस पार्टी आयोजित करने वाले दो अफगान शरणार्थियों और उज्बेकिस्तान की एक महिला को डायरेक्टरेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलीजेंस (राजस्व खुफिया निदेशालय) की टीम ने गिरफ्तार किया है। टीम ने आरोपियों को नोएडा सेक्टर-135 स्थित एक सोसाइटी से गिरफ्तार किया। आरोपियों के पास से आठ किलो मादक पदार्थ बरामद हुए हैं। महिला को जेल भेज दिया गया है जबकि अफगान नागरिकों को पूछताछ के लिए टीम ने पांच दिन के रिमांड पर लिया है। राजस्व खुफिया निदेशालय के अनुसार, दिल्ली की एक टीम ने गाजियाबाद से एक अफगान नागरिक को गिरफ्तार किया था।

Next Story