Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पहली ऑक्सीजन एक्सप्रेस से 70 टन Oxygen पहुंची दिल्ली, रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट कर दी जानकारी

रेल मंत्री पीयूष गोयल (Railway Minister Piyush Goyal) ने ट्वीट किया कि राष्ट्रीय राजधानी में मरीजों के लिए ऑक्सीजन के साथ छत्तीसगढ़ के रायगढ़ से ऑक्सीजन एक्सप्रेस दिल्ली पहुंच गयी है। भारतीय रेल कोविड-19 के खिलाफ हमारी जंग में कोई कसर नहीं छोड़ेगी और देश भर में जीवनदायिनी संसाधनों की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करेगी।

पहली ऑक्सीजन एक्सप्रेस से 70 टन Oxygen पहुंची दिल्ली, रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट कर दी जानकारी
X

Delhi Oxygen Crisis दिल्ली में कोरोना (Delhi Corona) से हालात बेकाबू हो चुके है। वहीं अस्पतालों में ऑक्सीजन (Covid Hospitals) न मिलने के कारण मरीजों (Corona Deaths) की मौतें हो रही है। दिल्ली के कई अस्पतालों में ऑक्सीजन की भारी कमी है। इसी बीच, दिल्ली के ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेन (Oxygen Express Train) राहत की सांस लेकर आज आई है। आपको बता दें कि दिल्ली के लिए करीब 70 टन जीवनदायिनी ऑक्सीजन के साथ पहली ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेन मंगलवार सुबह राष्ट्रीय राजधानी पहुंच गयी। अधिकारियों ने इस बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इस ऑक्सीजन को अब दिल्ली सरकार के विभिन्न अस्पतालों को पहुंचाया जायेगा।

भारतीय रेल कोरोना की जंग में कोई कसर नहीं छोड़ेगी: पीयूष गोयल

रेल मंत्री पीयूष गोयल (Railway Minister Piyush Goyal) ने ट्वीट किया कि राष्ट्रीय राजधानी में मरीजों के लिए ऑक्सीजन के साथ छत्तीसगढ़ के रायगढ़ से ऑक्सीजन एक्सप्रेस दिल्ली पहुंच गयी है। भारतीय रेल कोविड-19 के खिलाफ हमारी जंग में कोई कसर नहीं छोड़ेगी और देश भर में जीवनदायिनी संसाधनों की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करेगी। इससे पहले रेलवे ने कहा था कि उसने अंगुल, कलिंगनगर, राउरकेला और रायगढ़ से दिल्ली एवं एनसीआर क्षेत्र के लिए चिकित्सकीय ऑक्सीजन पहुंचाने की योजना तैयार की है।

ऑक्सीजन पहुंचाने के लिए टैंकरों का करना होगा इंतजाम

हालांकि राष्ट्रीय राजधानी में ऐसी दूसरी ट्रेन के पहुंचने की कोई सूचना नहीं है। अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली सरकार को अस्पतालों तक ऑक्सीजन पहुंचाने के लिए सड़क मार्ग से टैंकरों का इंतजाम करना होगा। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार दिल्ली में सोमवार को एक दिन में संक्रमण के सर्वाधिक मामले सामने आये और 380 लोगों की मौत हुई जबकि संक्रमण दर 35 प्रतिशत से ऊपर रही।

Next Story