Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Farmers Protest: ट्रैक्टर रैली में हिंसा और लाल किले पर झंडा फहराने वाला मास्टरमाइंड दीप सिद्धू गिरफ्तार

Farmers Protest: पुलिस ने इस बात का खुलासा नहीं किया है कि दीप सिद्धू को कहां से गिरफ्तार किया गया है। आपको बता दें कि ट्रैक्टर रैली हिंसा के बाद फरार चल रहे दीप सिद्धू पर दिल्ली पुलिस ने 1 लाख रुपए का इनाम भी रखा था।

Farmers Protest: ट्रैक्टर रैली में हिंसा और लाल किले पर झंडा फहराने वाला मास्टरमाइंड दीप सिद्धू गिरफ्तार
X

ट्रैक्टर रैली में हिंसा और लाल किले पर झंडा फहराने वाला मास्टरमाइंड दीप सिद्धू गिरफ्तार

Farmers Protest दिल्ली पुलिस को लाल किले (Red Fort) में हुये उपद्रव के मामले में बड़ी कामयाबी मिली है। 26 जनवरी को ट्रैक्टर रैली (Tractor Rally) के दौरान लाल किले में हुई हिंसा के दौरान केसरिया झंडा फहराने के आरोप में दीप सिद्धू को गिरफ्तार किया गया है। मंगलवार को पुलिस की स्पेशल टीम ने 26 जनवरी को हुई हिंसा के बाद से फरार दीप सिद्धू को पकड़ा है। पुलिस ने इस बात का खुलासा नहीं किया है कि दीप सिद्धू को कहां से गिरफ्तार किया गया है। आपको बता दें कि ट्रैक्टर रैली हिंसा के बाद फरार चल रहे दीप सिद्धू पर दिल्ली पुलिस ने 1 लाख रुपए का इनाम भी रखा था।

गौरतलब है कि फरार दीप सिद्धू की ओर से एक के बाद एक वीडियो संदेश जारी किए जा रहा थ। दावा किया गया है कि पंजाबी एक्टर जो भी वीडियो सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म पर अपलोड करता है, उसके पीछे सिद्धू की एक बेहद करीबी महिला मित्र है। पुलिस के मुताबिक, दीप सिद्धू वीडियो बनाता जरूर था, लेकिन उसे अपलोड उसकी बेहद करीबी महिला मित्र करती थी। ये महिला मित्र भारत से बाहर विदेश में बैठकर सिद्धू के वीडियो अपलोड करती थी।

इसके पीछे सिद्धू की चाल जांच एजेंसियों को भटकाने की थी। यानी दीप सिद्धू एक पेशेवर अपराधी की तरह पुलिस के साथ लुकाछिपी का खेल खेल रहा था। हाल ही में पंजाबी एक्टर दीप सिद्धू ने एक वीडियो जारी कर कहा था कि उसने कुछ गलत नहीं किया है, इसलिए उसे कोई डर नहीं है। वह मामले से जुड़े सबूत जुटा रहा है और 2 दिन बाद पुलिस के सामने पेश हो जाएगा। एक्टर ने यह भी कहा था कि जांच एजेंसियां उनके परिवार को परेशान न करें।

दीप सिद्धू पर आरोपी है कि 26 जनवरी को उपद्रवियों की भीड़ ने लाल किले पर पहुंचकर उत्पात मचाया था और अपना झंडा फहरा दिया था। प्राचीर पर निशान साहिब फहराए जाने की घटना की पूरे देश में आलोचना हुई थी। किसान संगठनों ने खुद को इस घटना से अलग करते हुए दीप सिद्धू को जिम्मेदार ठहराया था। साथ ही यह भी आरोप लगाया था कि सिद्धू बीजेपी का सदस्य है।

Next Story