Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Farmers Protest: किसानों का आंदोलन 75 दिनों से जारी, पीएम मोदी को लेकर राकेश टिकैत ने कही ये बड़ी बात

Farmers Protest: भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने सोमवार को कहा कि एमएसपी पर क़ानून बने यह किसानों के लिए फायदेमंद होगा। देश में भूख से व्यापार करने वालों को बाहर निकाला जाएगा। देश में अनाज की कीमत भूख से तय नहीं होगी।

Farmers Protest: किसानों का आंदोलन 75 दिनों से जारी, पीएम मोदी को लेकर राकेश टिकैत ने कही ये बड़ी बात
X

किसान नेता राकेश टिकैत- फाइल फोटो

Farmers Protest नये कृषि कानूनों (FarmLaws) को लेकर केंद्र के खिलाफ किसानों का आंदोलन 75 दिनों से जारी है। दिल्ली के बॉर्डरों (Delhi Border) पर अभी भी किसान कृषि कानूनों को रद्द करने को लेकर डटे हुये है। किसानों ने सरकार को काले कानूनों को रद्द करने के लिए अक्टूबर तक का समय दिया है। वहीं केंद्र सरकार (Central Government) अपनी बातों पर कायम है। इसी बीच, नए कृषि कानूनों को लेकर संसद के दोनों सदनों में विपक्ष लगातार सरकार पर हमलावर है। ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Modi) ने आज राज्यसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण के धन्यवाद प्रस्ताव पर जवाब दिया है। पीएम मोदी ने कहा कि पूरा विश्व अनेक चुनौतियों से जूझ रहा है। शायद ही किसी ने सोचा होगा कि मानव जाति को ऐसे कठिन दौर से गुजरना होगा, ऐसी चुनौतियों के बीच।

राज्य सभा में करीब 13-14 घंटे तक 50 से अधिक माननीय सदस्यों ने अपने बहुमूल्य विचार रखे। इसलिए मैं सभी आदरणीय सदस्यों का हृदय पूर्वक आभार व्यक्त करता हूं। वहीं, भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने सोमवार को कहा कि एमएसपी पर क़ानून बने यह किसानों के लिए फायदेमंद होगा। देश में भूख से व्यापार करने वालों को बाहर निकाला जाएगा। देश में अनाज की कीमत भूख से तय नहीं होगी।

प्रधानमंत्री को अपील करनी चाहिए कि विधायक और सांसद अपनी पेंशन छोड़े उसके लिए यह मोर्चा धन्यवाद करेगा। इससे पहले, केंद्र के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ हरियाणा के भिवानी जिले के कितलाना में आयोजित कृषक रैली को संबोधित करते हुये किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि कानून वापस नहीं होने पर अनाज तिजोरियों में रखने वाला सामान बन जायेगा। संयुक्त किसान मोर्चा के तत्वावधान में आयोजित किसान रैली में किसानों से संगठित रहने की अपील करते हुए कहा कि उन्हे और ज्यादा सचेत रहने की जरूरत है क्योंकि भाजपा के कुछ नेताओं ने उन्हें सिख एवं गैर सिख में बांटने की कोशिश की।

Next Story