Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Farmers Protest: टीकरी बॉर्डर पर महिला से रेप का मुख्य आरोपी गिरफ्तार, कोर्ट ने तीन दिन के लिए पुलिस रिमांड में भेजा

आरोपी की पहचान अनिल मलिक के तौर पर हुई है। जो कि दिल्ली का रहने वाला का रहने वाला है। जिसने 25 वर्षीय महिला के साथ कथित तौर पर बलात्कार करने का मुख्य आरोपी है। गिरफ्तारी के बाद मलिक को एक अदालत में पेश किया गया, जहां से उसे तीन दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया।

Farmers Protest: टीकरी बॉर्डर पर महिला से रेप का मुख्य आरोपी गिरफ्तार, कोर्ट ने तीन दिन के लिए पुलिस रिमांड में भेजा
X

टीकरी बॉर्डर पर महिला से रेप का मुख्य आरोपी गिरफ्तार

नए कृषि कानूनों (New Farm Laws) के खिलाफ किसानों का आंदोलन (Farmers Protest) कई महीनों से जारी है। इस बीच, दिल्ली के टीकरी बॉर्डर (Tikri Border) पर किसान आंदोलन में शामिल होने आई पश्चिम बंगाल की एक महिला के साथ रेप (Woman Rape) करने वाला मुख्य आरोपी को दबोचा गया है। पुलिस (Delhi Police) ने हरियाणा के भिवानी से इस आरोपी को गिरफ्तार किया। आरोपी की पहचान अनिल मलिक के तौर पर हुई है। जो कि दिल्ली का रहने वाला का रहने वाला है। जिसने 25 वर्षीय महिला के साथ कथित तौर पर बलात्कार करने का मुख्य आरोपी है। गिरफ्तारी के बाद मलिक को एक अदालत में पेश किया गया, जहां से उसे तीन दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया।

डीएसपी बहादुरगढ़ पवन शर्मा ने कहा कि आरोपी अनिल मलिक ने अपना अपराध स्वीकार कर लिया है और उसे तीन दिन के रिमांड पर भेज दिया गया है और अन्य आरोपियों की तलाश की जा रही है। पुलिस के मुताबिक, अनिल मलिक के अलावा दो अन्य आरोपी हैं जो कथित रूप से इस अपराध में शामिल थे। पुलिस ने इस मामले में पूछताछ के लिए किसान नेता योगेंद्र यादव समेत कई लोगों को नोटिस भेजा था। घटना के बाद आरोप लगाया गया था कि कुछ किसान नेताओं को इसके बारे में जानकारी थी।

वहीं, संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) ने कहा था कि वह इन आरोपों की जांच करेगा कि उसके कुछ किसान नेताओं को टीकरी बॉर्डर प्रदर्शन स्थल पर एक महिला कार्यकर्ता से कथित दुष्कर्म के बारे में जानकारी थी, जिसकी बाद में हरियाणा के एक निजी अस्पताल में कोविड-19 के कारण मृत्यु हो गई थी। बता दें कि, इस घटना के कुछ दिन बाद पीड़िता ने कोरोना संक्रमित होने के चलते बहादुरगढ़ के एक निजी अस्पताल में दम तोड़ दिया था। पुलिस ने इस मामले की जांच के लिए तीन टीमें बनाई थीं और 6 आरोपियों के खिलाफ (Fir Lodged) एफआईआर दर्ज की गई थी।

Next Story