Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Farmers Protest: जंतर-मंतर पर चल रहे 'किसान संसद' में पहुंचे राहुल गांधी, बोले- सरकार काले कानूनों को निरस्त करे

Farmers Protest: कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने विपक्षी नेताओं के साथ किसानों के मुद्दे पर बैठक की। इस दौरान उन्होंने कहा कि देश के लोकतंत्र को बचाने के लिए विपक्षी दलों की एकजुटता जरूरी है। राहुल गांधी ने सभी विपक्षी पार्टियों के वरिष्ठ नेताओं के साथ किसान, बेरोजगारी जैसे ज्वलंत मुद्दों पर चर्चा की। देश बचाने की लड़ाई में विपक्ष एकजुट है।

Farmers Protest: जंतर-मंतर पर चल रहे
X

जंतर-मंतर पर चल रहे 'किसान संसद' में पहुंचे राहुल गांधी

Farmers Protest दिल्ली के जंतर मंतर पर किसान संसद में कांग्रेस नेता राहुल गांधी समेत विपक्ष के अन्य नेता कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शनकारियों के साथ शामिल हुए है। इस दौरान राहुल गांधी ने कहा कि आज सभी विपक्षी पार्टियों ने काले कानूनों को हटाने के लिए अपना पूरा समर्थन दिया। हम संसद में पेगासस की बात करना चाहते हैं, वहां पर वो पेगासस की बात नहीं होने दे रहे हैं। नरेंद्र मोदी हर हिन्दुस्तानी के फोन के अंदर घुस गए हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार जल्द से जल्द कृषि कानूनों को निरस्त करें।देश की संसद मॉनसून सत्र का आज 13वां दिन है। लेकिन दोनों सदनों में अभी भी पक्ष और विपक्ष के बीच गतिरोध जारी है। दोनों के बीच चर्चा पर सहमति नहीं बन पा रही है।

सदन में विपक्षी दल चर्चा की शुरुआत पेगासस जासूसी के मुद्दे पर करना चाहता है, जबकि सरकार इससे किनारा करती दिखाई दे रही है। इस बीच, राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे (Mallikarjun Kharge) ने कहा कि किसानों (Support To Farmers) को समर्थन देने के लिए सभी विपक्षी दल आज जंतर-मंतर (Jantar Mantar) जाएंगे। जिसमें कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) शामिल होंगे। इससे पहले कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने विपक्षी नेताओं के साथ किसानों के मुद्दे पर बैठक की। इस दौरान उन्होंने कहा कि देश के लोकतंत्र को बचाने के लिए विपक्षी दलों की एकजुटता जरूरी है। राहुल गांधी ने सभी विपक्षी पार्टियों के वरिष्ठ नेताओं के साथ किसान, बेरोजगारी जैसे ज्वलंत मुद्दों पर चर्चा की। देश बचाने की लड़ाई में विपक्ष एकजुट है।

एसकेएम ने राजनीतिक पार्टियों पर लगाया आरोप

उधर, दिल्ली के जंतर मंतर पर किसान संसद 11वें दिन भी जारी है। आज 200 नए प्रदर्शनकारियों ने काले कानूनों के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन कर रहे है। संयुक्त किसान मोर्चा ने को कहा कि कई राजनीतिक पार्टियां संसद में कई बिलों पर होने वाली बहस में हिस्सा ले रहे हैं, लेकिन किसानों की मांगों को संसद में न उठाकर जनता का अपमान कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि संज्ञान में आया है कि विभिन्न राजनीतिक दल और उनके सांसद जनता की ओर से जारी किए गए व्हिप के खिलाफ जा रहे हैं। यह देखा जा रहा है कि बीजू जनता दल, तेलंगाना राष्ट्र समिति, वाईएसआर कांग्रेस पार्टी, अन्नाद्रमुक, तेलुगु देशम पार्टी, जनता दल यूनाइटेड के सांसद जनता के व्हिप को दरकिनार कर विभिन्न विधेयकों पर हो रही बहसों में हिस्सा ले रहे हैं।

सांसद नवनीत राणा ने विपक्षी दलों पर साधा निशाना

अमरावती से सांसद ने सदन के बाहर पोस्टर लेकर खड़े नजर आईं है। जिस पर लिखा गया है कि संसद में किसानों का मुद्दा अमरावती और महाराष्ट्र के अलग-अलग हिस्सों में आई भीषण बाढ़, बेरोजगारी, कोरोना बीमारी सहित बहुत सी ऐसी समस्याएं हैं, जिनका मुद्दा सांसद उठाना चाहते हैं। लेकिन विपक्षी पार्टियां सदन नहीं चलने दे रहे हैं। जिसकी वजह से ये मुद्दे नहीं उठ पा रहे हैं। नवनीत राणा ने कहा कि देश की जनता का करोड़ों रुपये खर्च होता है इसलिए उनके हक की बात यहां पर होनी चाहिए।

Next Story