Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

देशभर के हाइवे पर कल होगा चक्का जाम, किसान नेता आज बैठक मेें लेंगे अहम फैसले

Farmers Protest: गाज़ीपुर बॉर्डर से किसान नेता जगतार सिंह बाजवा ने आज कहा कि सभी राज्य और ज़िलों के हाइवे पर कल चक्का जाम किया जाएगा। दिल्ली में तो पहले से ही किसान बैठे हैं इसलिए यहां चक्का जाम वाली स्थिति नहीं होगी। देश की अन्य जगहों पर 12 बजे से 3 बजे तक चक्का जाम की स्थिति रहेगी।

Farmers Protest: देशभर के हाइवे पर कल होगा चक्का जाम, किसान नेता आज बैठक मेें लेंगे अहम फैसले
X

 देशभर के हाइवे पर कल होगा चक्का जाम, किसान नेता आज बैठक मेें लेंगे अहम फैसले

Farmers Protest कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली के बॉर्डरों (Delhi Border) पर किसानों का विरोध-प्रदर्शन आज 72वें दिन भी जारी है। केंद्र और किसान अपनी-अपनी मांगों पर अड़े हुये है। कोई भी पक्ष पीछे हटने को तैयार नहीं है। इसी बीच, गाज़ीपुर बॉर्डर (Ghazipur Border) से किसान नेता जगतार सिंह बाजवा ने आज कहा कि सभी राज्य और ज़िलों के हाइवे पर कल चक्का जाम (Chakka Jam) किया जाएगा। दिल्ली में तो पहले से ही किसान बैठे हैं इसलिए यहां चक्का जाम वाली स्थिति नहीं होगी। देश की अन्य जगहों पर 12 बजे से 3 बजे तक चक्का जाम की स्थिति रहेगी।

उन्होंने कहा कि आज 10 बजे की बैठक में हम ये तय करेंगे कि किस तरह से शांतिपूर्ण ढंग से ये आंदोलन करना है और संयुक्त मोर्चा की तरफ से दिशानिर्देश जारी किए जाएंगे। भारतीय किसान यूनियन (BKU) के नेता राकेश टिकैत ने कहा कि दिल्ली की सीमाओं पर यह आंदोलन इस साल अक्टूबर तक चलेगा और ग्रामीण इसका समर्थन करेंगे। उन्होंने छह फरवरी के प्रस्तावित चक्का जाम के बारे में बताते हुए गाजीपुर, टीकरी और सिंघू बॉर्डर की किलेबंदी करने को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसते हुए पत्रकारों से कहा कि दिल्ली में हम कुछ नहीं कर रहे हैं, वहां तो राजा ने खुद किले-बंदी कर रखी है, हमारे चक्का जाम करने की जरूरत ही नहीं है।

ठंड और बारिश भी नहीं तोड़ पायी किसानों के हौसले

दिल्ली-उत्तरप्रदेश सीमा पर कड़ी सुरक्षा वाले प्रदर्शन स्थल गाजीपुर बार्डर पर सैकड़ों किसान सर्द रात और बृहस्पतिवार सुबह हुई बूंदाबांदी के बीच केंद्र के नये कृषि कानूनों को वापस लेने की अपनी मांग को लेकर डटे रहे। कई किसानों ने दिल्ली-मेरठ राजमार्ग के एक हिस्से में अस्थायी तंबू लगा रखे हैं, वहीं कई किसान ट्रैक्टर की ट्रॉलियों में ही आराम कर रहे हैं। सड़क पर बिछायी गयी दरियों पर भी कुछ किसान खुले आसमान के नीचे डटे हुए हैं। गाजियाबाद पुलिस के अधिकारियों का अनुमान है कि गाजीपुर में दिन में दो से तीन हजार की भीड़ थी। सुरक्षा व्यवस्था कड़ी किए जाने के खिलाफ प्रदर्शनकारियों की आलोचना के बाद प्रदर्शन स्थल के आसपास की सड़कों से कीलें हटा दी गयी है।

दिल्ली पुलिस कमीश्नर ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से की मुलाकात

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसान यूनियनों द्वारा आहूत चक्का जाम के पहले दिल्ली पुलिस आयुक्त एस एन श्रीवास्तव के साथ बृहस्पतिवार को बैठक की। सूत्रों के मुताबिक समझा जाता है कि श्रीवास्तव ने शनिवार को किसान यूनियनों द्वारा आहूत चक्का जाम के मद्देनजर उठाए गए एहतियाती कदम और शहर में सुरक्षा की स्थिति से केंद्रीय गृह मंत्री को अवगत कराया। सूत्रों ने बताया कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजित डोभाल भी बैठक में मौजूद थे।

Next Story