Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Farmers Protest: सिंघु बॉर्डर पर हत्या मामले में आरोपी की आज कोर्ट में पेशी, राकेश टिकैत बोले- इससे आंदोलन पर नहीं पड़ेगा कोई असर

Farmers Protest: किसान नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने कहा कि जिस व्यक्ति ने हत्या कि उसने अपना अपराध स्वीकार कर लिया है और पुलिस ने उसे गिरफ़्तार कर लिया है। इसमें और कौन लोग शामिल थे, वह अब जांच का विषय है। इसका आंदोलन पर असर नहीं पड़ेगा। इससे पहले, टिकैत ने घटना पर दुख जताते हुए कहा था कि जो भी सच होगा, वह पुलिस की जांच में सामने आ जाएगा। किसान आंदोलन का हत्या से लेना-देना नहीं है।

Farmers Protest: सिंघु बॉर्डर पर हत्या के मामले में आरोपी गिरफ्तार, राकेश टिकैत बोले- इससे आंदोलन पर नहीं पड़ेगा कोई असर
X

 राकेश टिकैत बोले- इससे आंदोलन पर नहीं पड़ेगा कोई असर

Farmers Protest सिंघु बॉर्डर पर किसानों के प्रदर्शन स्थल पर युवक की हत्या के मामले में दिल्ली कोर्ट ने शनिवार को आरोपी निहंग सिख सरबजीत को 7 दिन की पुलिस रिमांड में भेज दिया है। सोनीपत पुलिस ने उसकी 14 दिन की रिमांड मांगी थी, लेकिन 7 दिन की ही रिमांड मंजूर की।दिल्ली के बॉर्डरों (Delhi Border) पर कृषि कानूनों को लेकर केंद्र के खिलाफ 10 महीनों से प्रदर्शन चल रहा है। लेकिन इस समय सिंघु बॉर्डर (Singhu Border) पर बैरिकेड से लटके मिले शव के बाद यहां हलचल बढ़ गई है। अब इस मामले में आंदोलन पर सवाल खड़े हो गए है। एक तरफ जहां बीजेपी (BJP) ने किसान आंदोलन पर निशाना साधा है तो वहीं दिल्ली के सिंघु बॉर्डर में एक व्यक्ति के शव मिलने पर किसान नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने कहा कि जिस व्यक्ति ने हत्या कि उसने अपना अपराध स्वीकार कर लिया है और पुलिस ने उसे गिरफ़्तार कर लिया है। इसमें और कौन लोग शामिल थे, वह अब जांच का विषय है। इसका आंदोलन पर असर नहीं पड़ेगा।

इससे पहले, टिकैत ने घटना पर दुख जताते हुए कहा था कि जो भी सच होगा, वह पुलिस की जांच में सामने आ जाएगा। किसान आंदोलन का हत्या से लेना-देना नहीं है। हालांकि इस मामले में आरोपी की गिरफ्तारी की जा चुकी है। मृतक की पहचान लखबीर सिंह के रूप में हई है। वहीं आरोपी की पहचान निहंग सरवजीत सिंह के रूप में हुई है। इसे आज कोर्ट में पेश किया जाएगा। बता दें कि इस पूरी घटना की जिम्मेदारी निहंग समूह निर्वेर खालसा-उड़ना दल ने ली है।

निहंग समूह ने स्वीकार किया है कि उनके समूह के ही निहंग ने लखबीर की हत्या की। समूह के पंथ-अकाली बलविंदर सिंह ने बताया कि घटना देर रात तीन बजे की है। उसने धार्मिक ग्रंथ की बेअदबी की थी, जिसके बाद उसे मारा गया। बलविंदर ने वीडियो में बताया कि यदि कोई और शख्स भी बेअदबी करेगा तो उसके साथ भी ऐसा ही सुलूक किया जाएगा। उधर, संयुक्त किसान मोर्चा ने इस मसले में कुछ भी बोले से इनकार किया है। लेकिन उन्होंने कहा कि मृतक और निहंग, दोनों से ही उनका कोई संबंध नहीं है। उन्होंने कई बार दिल्ली और हरियाणा की पुलिस को निहंग सिखों को लेकर अलर्ट किया था। यह भी बता दिया गया था कि निहंग उनके मोर्चे का हिस्सा नहीं हैं।

Next Story