Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Air Pollution: पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने अधिकारियों संग की अहम बैठक, 15 साल से पुरानी गाड़ियों पर की जाएगी सख्त कार्रवाई

देश की राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi) में वायु प्रदूषण (Air Pollution) खराब श्रेणी (Poor Category) में बना हुआ है। इसी बीच दिल्ली से सटे एनसीआर के क्षेत्रों में वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग के दिशानिर्देशों का अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए केजरीवाल सरकार के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय (Gopal Rai) ने बुधवार एक उच्च स्तरीय बैठक की।

Air Pollution: पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने अधिकारियों संग की अहम बैठक, 15 साल से पुरानी गाड़ियों पर की जाएगी सख्त कार्रवाई
X

देश की राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi) में वायु प्रदूषण (Air Pollution) खराब श्रेणी (Poor Category) में बना हुआ है। इसी बीच दिल्ली से सटे एनसीआर के क्षेत्रों में वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग के दिशानिर्देशों का अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए केजरीवाल सरकार के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय (Gopal Rai) ने बुधवार एक उच्च स्तरीय बैठक की।

इस बैठक में लोक निर्माण विभाग (Public Works Department), एमसीडी (MCD) यातायात पुलिस (Traffic Polic), पुलिस के अधिकारी शामिल हुए। बैठक के बाद गोपाल राय ने कहा सार्वजनिक परिवहन को बढ़ाने के लिए कल से 1,000 निजी CNG बसों को खरीदने की प्रक्रिया शुरू होगी। साथ ही मेट्रो और DTC की तरफ़ से यात्रियों को खड़े होकर यात्रा करने की अनुमति के लिए DDMA को पत्र लिखा गया है।

वही दिल्ली में चल रही 10 साल पुरानी डीज़ल और 15 साल पुरानी पेट्रोल की गाड़ियों की लिस्ट यातायत विभाग की तरफ से पुलिस को सौप दी गई है। जिसपर जल्द ही कार्रवाई शुरू की जाएगी. पेट्रोल पंप पर जो PUC अभियान चलाया जा रहा है, जिसे और सख्त किया जाएगा। बात दे बैठक से पहले गोपाल राय ने मंगलवार को वायु प्रबंधन आयोग की बैठक में एनसीआर में वर्क फ्रॉम होम नीति लागू करने और उद्योगों को बंद करने का सुझाव दिया था।

इस बैठक में पंजाब, राजस्थान, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के अधिकारियों ने हिस्सा लिया। राय ने केंद्रीय पर्यावरण मंत्री (Union Environment Minister) से दिल्ली के प्रदूषण में पराली (parali) जलाने के योगदान पर भ्रम को दूर करने को भी कहा, ताकि इसे प्रभावी ढंग से नियंत्रित किया जा सके। उन्होंने उम्मीद जताई कि बैठक को लेकर एक संयुक्त कार्य योजना तैयार की जाएगी, जिसमें पड़ोसी राज्यों से भी सहयोग मिलेगा। बैठक में दिल्ली सरकार के अधिकारियों ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में लगाए गए सभी प्रतिबंधों को एनसीआर में भी लागू किया जाना चाहिए, ताकि प्रदूषण के स्तर को नियंत्रित किया जा सके।

Next Story