Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

लापरवाही: पांच माह पहले बुजुर्ग की हो चुकी है मौत, अब स्वास्थ्य विभाग ने लगाई दूसरी डोज

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद (Ghaziabad) से एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। गाजियाबाद में एक बुजुर्ग की मौत (Death) के छह महीने बाद उनके मोबाइल पर कोरोनारोधी टीका (Vaccine) के दूसरे डोज लगने का मैसेज आया।

लापरवाही: पांच माह पहले गुजुर्ग की हो चुकी है मौत, अब स्वास्थ्य विभाग ने लगाई दूसरी डोज
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद (Ghaziabad) से एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। गाजियाबाद में एक बुजुर्ग की मौत (Death) के छह महीने बाद उनके मोबाइल पर कोरोनारोधी टीका (Vaccine) के दूसरे डोज लगने का मैसेज आया। बुजुर्ग का मोबाइल फोन चला रहे उनके बेटे ने मैसेज में आए लिंक को डाउनलोड किया तो उनका प्रमाण पत्र भी डाउनलोड हो गया। स्वास्थ्य विभाग अब इस लापरवाही पर पर्दा डालने में लगा है। मामले की शिकायत कविनगर मंडल अध्यक्ष दुष्यंत पुंडीर ने नगरीय स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी से की तो उन्होंने विभाग के उच्चाधिकारियों का नंबर देते हुए कहा कि जहां शिकायत करनी हो कर दो।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कविनगर मंडल अध्यक्ष दुष्यंत पुंडीर ने बताया कि उनके घर के सामने शास्त्रीनगर सी ब्लॉक में विश्वहारी सक्सेना (78) रहते थे। उन्होंने 20 मार्च 2021 को कोवीशील्ड वैक्सीन का पहला डोज लगवाया था। सात मई को बीमारी के चलते उनकी मौत हो गई। 18 अक्तूबर की शाम को उनके बेटे कपिल सक्सेना को बुजुर्ग के मोबाइल नंबर पर मैसेज आया, जिसमें विश्व बिहारी सक्सेना को दूसरा डोज लगने की सूचना के साथ ही प्रमाण पत्र डाउनलोड करने का लिंक आया। कपिल ने लिंक खोला तो उनके पिता के नाम से प्रमाण पत्र डाउनलोड हो गया।

वहीं पार्षद अर्चना सिंह का कहना है कि सरकार टीकाकरण को लेकर गंभीरता बरत रही है, लेकिन स्थानीय स्तर पर अधिकारी टीकाकरण की संख्या बढ़ाने को लेकर फर्जीवाड़ा कर रहे हैं। उन्होंने कहा जिस व्यक्ति की छह महीने पहले मौत हो चुकी है, उसका भी वैक्सीनेशन अपडेट होना अधिकारियों की लापरवाही का नतीजा है। इस मामले की शिकायत शासन में की जाएगी। इस मामले में सीएमओ डॉ. भवतोष शंखधार का कहना है कि यह गंभीर मामला है। मामले की जांच के लिए टीम गठित की जा रही है, जो भी मामले में दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Next Story