Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Video: यति नरसिंहानंद के जामा मस्जिद जाकर मौलवियों को किताबें दिखाने के बयान पर प्रशासन ने जारी किया नोटिस, बोले-जेल जाने को तैयार

पैगंबर मोहम्मद पर टिप्पणी के मामले में बीजेपी सस्पेंड नूपुर शर्मा के समर्थन में स्वामी यति नरसिंहानंद गिरि महाराज आए हैं। उन्होंने दिल्ली के जामा मस्जिद जाकर मौलवियों को इस्लामिक किताबें दिखाने का ऐलान किया था। इस संबंध में यति नरसिंहानंद ने एक वीडियो भी जारी किया।

Video: यति नरसिंहानंद के जामा मस्जिद जाकर मौलवियों को किताबें दिखाने के बयान पर प्रशासन ने जारी किया नोटिस, बोले-जेल जाने को तैयार
X

पैगंबर मोहम्मद पर टिप्पणी के मामले में बीजेपी सस्पेंड नूपुर शर्मा(BJP Suspend Nupur Sharma) के समर्थन में स्वामी यति नरसिंहानंद गिरि महाराज(Swami Yeti Narasimhanand Giri Maharaj) आए हैं। उन्होंने दिल्ली के जामा मस्जिद(Jama Majsid) जाकर मौलवियों को इस्लामिक किताबें दिखाने का ऐलान किया था। इस संबंध में यति नरसिंहानंद ने एक वीडियो भी जारी किया।

यह वीडियो तेजी के साथ सोशल मीडिया(Social Media) पर वायरल हुआ है। वीडियो सामने आने के बाद गाजियाबाद जिला प्रशासन अलर्ट हो गया है। इस मामले में गाजियाबाद के SDM और मसूरी थाना प्रभारी ने उन्हें एक नोटिस जारी किया है। नोटिस में 17 जून 2022 को जमा मस्जिद पर कुरान और इस्लाम इतिहास की किताबों को मौलवियों को दिखाने का कार्यक्रम रद्द करने की बात कही गई है।


स्वामी यति नरसिंहानंद सरस्वती गाजियाबाद के डासना स्थित मंदिर के महंत और श्रीपंचदशनाम जूना अखाड़ा के महामंडलेश्वर है। यति नरसिंहानंद का एक वीडियो सामने आया था कि जिसमें उन्होंने 17 जून 2022 को जामा मस्जिद पर कुरान और इस्ला​मिक इतिहास की किताबों के साथ ले जाने की बात कही है।

जिला प्रशासन की तरफ से जारी किए गए नोटिस में कहा गया है कि वहां जाने से शांति व्यवस्था भंग हो सकती है। कार्यक्रम को तत्काल निरस्त कर दिया जाए। नोटिस के मुताबिक, बयान से विभिन्न समुदायों के बीच वैमनस्यता, ईर्ष्या और द्वेष फैल सकता है। आगे से कोई बयान जारी नहीं करें। नहीं तो प्रशासन कानूनी कार्रवाई करेगा। इस जिम्मेदारी स्वयं की होगी।


यति नरसिंहानंद महाराज का कहना है कि उन्हें प्रशासन का नोटिस मिला है। जिसमें उनकी बयान पर जिला प्रशासन ने वैमनस्यता,ईर्ष्या,द्वेष फैलने की संभावना के बात कहीं गई है। उन्होंने कहा कि मारने तक की भी धमकी दी गई, जब किसी को वैमनस्यता नहीं दिखाई दी। नूपुर शर्मा को जान से मारने की धमकी दी जा रही है, इसमें किसी को वैमनस्यता नहीं दिखाई दे रही है। उन्होंने कहा कि जामा मस्जिद पर अकेले निहत्थे किताब लेकर जाना चाहते है तो शासन और प्रशासन को वैमनस्यता दिखाई दे रही है। मेरा लोकतांत्रिक अधिकार है। मैं किताब और केवल कंप्यूटर लेकर ही वहां जाऊंगा। उन्होंने कहा कि जेल भी जाना पड़ा तो वे तैयार है।

और पढ़ें
Next Story