Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दिल्ली वालों का सांस लेना हुआ मुश्किल, दिवाली पर और बिगड़ सकते हैं हालात

दिवाली पर राजधानी दिल्ली में वायु गुणवत्ता (Delhi air quality) सूचकांक खराब से बहुत खराब स्थिति में रहने का अनुमान है। दिल्ली के लिए पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय (Ministry of Earth Sciences) की वायु गुणवत्ता प्रारंभिक चेतावनी प्रणाली के अनुसार, अगले कुछ दिनों में वायु गुणवत्ता सूचकांक 300 से 400 अंक के दायरे में रहने वाली है।

दिल्ली वालों का सांस लेना हुआ मुश्किल, दिवाली पर और बिगड़ सकते हैं हालात
X

दिवाली पर राजधानी दिल्ली में वायु गुणवत्ता (Delhi air quality) सूचकांक खराब से बहुत खराब स्थिति में रहने का अनुमान है। दिल्ली के लिए पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय (Ministry of Earth Sciences) की वायु गुणवत्ता प्रारंभिक चेतावनी प्रणाली के अनुसार, अगले कुछ दिनों में वायु गुणवत्ता सूचकांक 300 से 400 अंक के दायरे में रहने वाली है।

वायु गुणवत्ता का अनुमान लगाने वाली एजेंसी के अनुसार दिल्ली की वायु गुणवत्ता 5 और 6 नवंबर को और खराब हो सकती है। मौसम विज्ञान विभाग (Department of Meteorology) ने सोमवार को कहा था, दिल्ली की हवा 4 नवंबर तक श्रेणी, जो 5 नवंबर से 6 नवंबर तक 'बेहद खराब' श्रेणी में पहुंच सकती है। मौसम विभाग के एक वैज्ञानिक ने कहा कि 4 नवंबर तक हवा की गुणवत्ता 'खराब' श्रेणी में रहने की उम्मीद है।

उन्होंने कहा कि उत्तर-पश्चिमी हवाओं और पटाखे फोड़ने के कारण 5 से 6 नवंबर तक इसके 'बेहद खराब' श्रेणी में पहुंचने की संभावना है। उन्होंने आगे कहा कि दिल्ली में अगले तीन दिनों तक न्यूनतम तापमान 13-15 डिग्री सेल्सियस के बीच रहेगा. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (Central Pollution Control Board) के आंकड़ों के अनुसार, दिल्ली और एनसीआर के शहरों में हरियाणा, उत्तर प्रदेश और राजस्थान की एजेंसियों ने 15 अक्टूबर से 30 अक्टूबर के बीच 424 शिकायतों में से केवल 47 का समाधान किया है।

सीपीसीबी (CPCB) के अनुसार, अधिकांश शिकायतों में निर्माण और विध्वंस गतिविधियों, कच्ची सड़कों, सड़क की धूल, कचरा और औद्योगिक कचरे को खुले में डंप करने और ट्रैफिक जाम से संबंधित हैं। वही लगातार छठे दिन दिल्ली कि हवा 'खराब' श्रेणी में दर्ज की गई, यहां हवा में मौजूद प्रदूषक पीएम2.5 का सात प्रतिशत पराली जलाने के से हुई हैं। वायु गुणवत्ता पूर्वानुमान एजेंसी 'सफर' ने कहा कि पश्चिम और दक्षिण-पश्चिम दिशा से आने वाली हवाओं के कारण अगले दो दिनों में दिल्ली की वायु गुणवत्ता में आंशिक सुधार होगा।

Next Story