Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दिल्ली में 12 महीने बाद खुला चिड़ियाघर, वन्यजीवों का दीदार कर पर्यटकों के चेहरे खिले, ऐसे बुक करें टिकट

पहले दिन दो पालियों में 1645 पर्यटकों ने ऑनलाइन टिकट के माध्यम से प्रवेश किया। तकनीकी खामियों की वजह से पर्यटकों को टिकट बुक करने में परेशानी का भी सामना करना पड़ा। पहले के मुकाबले चिड़ियाघर नए रंग रूप में नजर आया। प्रवेश द्वार पर बनाई गई कलाकृतियों ने पर्यटकों का मन मोह लिया।

दिल्ली में 12 महीने बाद खुला चिड़ियाघर, वन्यजीवों का दीदार कर पर्यटकों के चेहरे खिले, ऐसे बुक करें टिकट
X

दिल्ली में 12 महीने बाद खुला चिड़ियाघर

Delhi Zoo Reopen दिल्ली में बढ़ते मामलों के बीच एक बार फिर से चिड़ियाघर (Zoo) को खोल दिया गया है। कोरोना महामारी (Corona Pandemic) के कारण बंद हुए चिड़ियाघर को करीब 12 महीने (Opened After 12 Months) के बाद खोला गया है। गुरुवार को इसे पर्यटकों (Tourist) के लिए खोल दिया गया। लंबे समय बाद वन्यजीवों का दीदार कर बच्चों व वन्यजीव प्रेमियों के चेहरे खिले नजर आए। फिलहाल अभी आपको ऑनलाइन (Online Booking Ticket) के माध्यम से टिकट बुक करनी पड़ेगी। जिसके बाद कोरोना के सभी गाइडलाइंस (Covid Guidelines) का पालन करने पर ही चिड़ियाघर में एंट्री मिलेगी।

आपको बता दें कि कोरोना वायरस की वजह से पिछले साल 18 मार्च को चिड़ियाघर को पर्यटकों के लिए बंद कर दिया गया था। इसके बाद से चिड़ियाघर प्रशासन केंद्र की ओर से मंजूरी का इंतजार कर रहा था, लेकिन इस बीच बर्ड फ्लू के कारण चिड़ियाघर के खुलने की फाइल एक बार फिर ठंडे बस्ते में चले गई थी। लगातार दो बार नमूनों की रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद पूरी तैयारी के साथ चिड़ियाघर को एक अप्रैल से पर्यटकों के लिए खोल दिया गया। पहले दिन दो पालियों में 1645 पर्यटकों ने ऑनलाइन टिकट के माध्यम से प्रवेश किया। तकनीकी खामियों की वजह से पर्यटकों को टिकट बुक करने में परेशानी का भी सामना करना पड़ा। पहले के मुकाबले चिड़ियाघर नए रंग रूप में नजर आया। प्रवेश द्वार पर बनाई गई कलाकृतियों ने पर्यटकों का मन मोह लिया।

चिड़ियाघर में पिछले साल 125 पशुओं की मौत हुई

दिल्ली के चिड़ियाघर में 2020-21 में 125 पशुओं की मौत के मामले सामने आये जो पिछले तीन साल में सबसे कम संख्या है। कोरोना वायरस संक्रमण और बर्ड फ्लू के कारण एक साल से भी अधिक समय तक बंद रहने के बाद बृहस्पतिवार को ही चिड़ियाघर को आम जनता के लिए पुन: खोला गया। चिड़ियाघर के निदेशक रमेश पांडे ने कहा कि बुधवार को समाप्त हुए पिछले वित्त वर्ष में जानवरों की मृत्युदर करीब 10 प्रतिशत रही जो 2017-18 के बाद से सबसे कम है। पांडे ने बताया कि इस समय चिड़ियाघर में करीब 1,160 पशु हैं। संख्या संबंधी अंतिम रिपोर्ट अप्रैल के मध्य तक तैयार होगी। पांडे ने कहा कि अगर बर्ड फ्लू से पक्षियों की मौत का कोई मामला नहीं होता तो मारे गये जंतुओं की संख्या कम रहती। चिड़ियाघर में बर्ड फ्लू का पहला मामला 15 जनवरी को सामने आया था।

Next Story