Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Delhi Reopen School: दिल्ली में एक सितंबर से खुलेंगे स्कूल, सरकार कर रही है विचार

Delhi Reopen Schools: डीडीएमए इसके ऊपर विचार कर रही है और उसके बाद स्कूल खोलने को पर फैसला लिया जाएगा। उपराज्यपाल द्वारा लिए गए बैठक में इस बात की जानकारी सामने रखी गई है। इस बैठक में स्कूल खोले जाने के मुद्दे पर एक कमिटी बनाने की बात कही गई, जिसमें शिक्षा और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी भी शामिल हों। यह कमिटी एसओपी पर फैसला ले।

Delhi Reopen Schools: दिल्ली में एक सितंबर से खुलेंगे स्कूल, सरकार कर रही है विचार
X

 दिल्ली में एक सितंबर से खुलेंगे स्कूल, सरकार कर रही है विचार

Delhi Reopen Schools दिल्ली में कोरोना के मामले लगातार (Delhi Coronavirus) कम आ रहे है और हालात स्थिर हो रहे है। वहीं दिल्ली में पॉजिटिव रेट (Delhi Positive rate) 0.10 प्रतिशत है। इस बीच दिल्ली सरकार (Delhi Government) के सूत्रों ने जानकारी दी है कि अगर कोरोना की तीसरी लहर (Third Wave) नहीं आई और मामले 100 से नीचे रहे तो दिल्ली में 1 सितंबर से सभी स्कूल खोले जा सकते है। इससे पहले, दिल्ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने कहा था कि हमने लोगों से स्कूल खोलने को लेकर राय मांगी है। कई लोग संक्रमण से अभी भी डरे हुए है। उन्होंने कहा कि अगर कोविड की स्थिति इसी तरह से नियंत्रण में रही तो अगले महीने एक सितंबर से बच्चे स्कूल जा सकेंगे। हालांकि इसके लिए सरकार पहले कड़ी शर्तें तय करेगी और एसओपी तैयार कर डीडीएमए को भेजी जाएगी। आपको बता दें कि कोरोना की दूसरी लहर के बाद लॉकडाउन के कारण स्कूलों को बंद कर दिया गया था।

डीडीएमए इसके ऊपर विचार कर रही है और उसके बाद स्कूल खोलने को पर फैसला लिया जाएगा। उपराज्यपाल द्वारा लिए गए बैठक में इस बात की जानकारी सामने रखी गई है। इस बैठक में स्कूल खोले जाने के मुद्दे पर एक कमिटी बनाने की बात कही गई, जिसमें शिक्षा और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी भी शामिल हों। यह कमिटी एसओपी पर फैसला ले। बताया जा रहा है कि इस एसओपी में कोरोना को लेकर सख्त गाइडलाइंस की शर्तें लागू की जाएगी। साथ ही सुरक्षा को लेकर पूरा ध्यान रखा जाएगा।

दिल्ली में ग्रेडेड रिस्पॉन्स एक्शन प्लान पहले से ही लागू है और केस बढ़ने की स्थिति में तमाम बंदिशें लागू हो जाएंगी। ऐसे में कहा जा सकता है कि अगर अगस्त में भी मामले जुलाई की तरह कम ही आते रहे तो फिर अगले महीने से बच्चे स्कूल जा सकेंगे। हालांकि एक दिन में कितने बच्चे स्कूल जाएंगे, क्या प्रोसेस होगा, इसका फैसला एसओपी के आधार पर ही होगा। वैसे कहा जा रहा है कि सभी क्लासेज के बच्चों के स्कूल जाने की संभावना को लेकर ही एसओपी तैयार की जाएगी।

Next Story