Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Delhi Power Crisis: दिल्ली में बिजली की समस्या को लेकर ऊर्जा मंत्री सत्येंद्र जैन ने बताई ये महत्वपूर्ण बात, अंधेरे में डूब सकता है पूरा शहर

Delhi Power Crisis: जैन ने कहा कि किसी भी पावर प्लांट में 15 दिन से कम का स्टॉक नहीं होना चाहिए। अभी ज्यादातर प्लांट में 2-3 दिन का स्टॉक बचा है। एनटीपीसी के सारे प्लांट 55-50% क्षमता पर काम कर रहे हैं। कोयले की बहुत बड़ी समस्या इस समय है। कोयले को उपलब्धता को लेकर केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आर.के. सिंह के बयान पर उन्होंने कहा कि पूरे देश में बिजली के कट क्यों लग रहे हैं? हमें जानकारी नहीं है, योगी आदित्यनाथ जी को तो जानकारी होगी, वे तो उन्हीं के मुख्यमंत्री हैं, वे पत्र क्यों लिख रहे हैं।

Delhi Power Crisis: दिल्ली में बिजली की समस्या को लेकर ऊर्जा मंत्री सत्येंद्र जैन ने बताई ये महत्वपूर्ण बात, अंधेरे में डूब सकता है पूरा शहर
X

दिल्ली में बिजली की समस्या को लेकर ऊर्जा मंत्री सत्येंद्र जैन ने बताई ये महत्वपूर्ण बात

Delhi Power Crisis दिल्ली समेत देशभर में बिजली का संकट डर पैदा हो गया है। ऐसे में कोयले (Lack Of Coal) की आपूर्ति न होने से राजधानी में बिजली कभी भी जा सकती है। यहीं हाल दूसरे राज्यों का भी है। दिल्ली में कोयले का स्टॉक दो-तीन दिन का ही बचा है। जिससे आने वाले दिनों में शहर में बिजली गुल होती दिखाई दे रही है। इस संबंध में आज दिल्ली सरकार में ऊर्जा मंत्री सत्येंद्र जैन (Delhi Energy Minister Satyendar Jain) ने जानकारी दी है। उन्होंने कहा कि किसी भी पावर प्लांट में 15 दिन से कम का स्टॉक नहीं होना चाहिए। अभी ज्यादातर प्लांट में 2-3 दिन का स्टॉक बचा है। एनटीपीसी के सारे प्लांट 55-50% क्षमता पर काम कर रहे हैं। कोयले की बहुत बड़ी समस्या इस समय है।

कोयले को उपलब्धता को लेकर केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आर.के. सिंह के बयान पर उन्होंने कहा कि पूरे देश में बिजली के कट क्यों लग रहे हैं? हमें जानकारी नहीं है, योगी आदित्यनाथ जी को तो जानकारी होगी, वे तो उन्हीं के मुख्यमंत्री हैं, वे पत्र क्यों लिख रहे हैं। इससे पहले, इस पर दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि पूरे देश में कोयले की कमी है लेकिन केंद्र सरकार कह रही है कि कोयले की कोई कमी नहीं है। बिजली घरों से हमें कोयले की कमी की सूचना मिल रही है।

अगर केंद्र सरकार ने कोयला संकट को हल नहीं किया तो देश के सामने बहुत बड़ा संकट पैदा हो जाएगा। आपको बता दें कि शहर को बिजली की आपूर्ति करने वाले उत्पादन संयंत्रों में कोयले और गैस की उचित व्यवस्था होती रहे इसके लिए दिल्‍ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को हस्तक्षेप करने के लिए पत्र लिखा था। उधर, टीडीडीपीएल ने चेतावनी दी है हालात ऐसे रहे तो दिन में 4 घंटे तक बिजली जा सकती है। केंद्र इस संबंध में बताया है कि यह सारी बेबुनियादी बातें है। चिंता की कोई बात नहीं दिल्ली कोयले की कमी नहीं है जिससे बिजली संकट की परेशानी नहीं होगी।

Next Story