Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Delhi Pollution: दिल्ली में ठंड के बाद प्रदूषण करेगा लोगों का बुरा हाल, जानें आज का AQI

Delhi Pollution: शहर का 24 घंटे का औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) शनिवार को 316 दर्ज किया गया। जबकि दिल्ली से सटे हुये लगभग एक महीने के बाद, गाजियाबाद में वायु की गुणवत्ता संतोषजनक स्तर पर पहुंच गई।

Delhi Pollution: दिल्ली में ठंड के बाद प्रदूषण करेगा लोगों का बुरा हाल, जानें आज का AQI
X

दिल्ली में ठंड के बाद प्रदूषण करेगा लोगों का बुरा हाल

Delhi Pollution दिल्ली में ठंड (Delhi Cold) का सितम कम होने लगा है। क्योंकि तापमान (Delhi Temperature) में थोड़ी वृद्धि देखी जा रही है। तो वहीं दिल्ली में प्रदूषण का स्तर बढ़ने लगा है। दिल्ली में आज सुबह वायु की गुणवत्ता (Delhi AQI) बहुत खराब श्रेणी में दर्ज की गई है, लेकिन इसमें थोड़ा सुधार होने की उम्मीद है। शहर का 24 घंटे का औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) शनिवार को 316 दर्ज किया गया। जबकि दिल्ली से सटे हुये लगभग एक महीने के बाद, गाजियाबाद में वायु की गुणवत्ता संतोषजनक स्तर पर पहुंच गई।

दिल्ली-एनसीआर में बारिश के बाद प्रदूषण के स्तर में आई कमी

शुक्रवार को एक सरकारी एजेंसी द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, एनसीआर में हल्की बारिश के बाद नोएडा, ग्रेटर नोएडा, फरीदाबाद और गुड़गांव में यह मध्यम श्रेणी में रही। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) द्वारा दर्ज किए जाने वाले वायु गुणवत्ता सूचकांक(एक्यूआई) के मुताबिक हालांकि दिल्ली के पड़ोसी शहरों में प्रदूषक पीएम 2.5 और पीएम 10 हवा में मौजूद रहे। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के समीर ऐप के अनुसार शुक्रवार को गाजियाबाद का वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 91, ग्रेटर नोएडा का 144, नोएडा का 114, गुड़ंगांव का 160 और फरीदाबाद का 105 रहा।

प्रदूषण का नियम तोड़ने पर एजेंसियों पर लगाया गया 2.56 करोड़ रुपये का जुर्माना

वायु गुणवत्ता प्रबंधन के लिए केंद्रीय आयोग ने राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में 5,660 से अधिक निर्माण कार्य एवं तोड़फोड़ गतिविधियों वाले स्थलों का मुआयना किया तथा धूल प्रदूषण नियंत्रण के लिए जारी दिशानिर्देशों का अनुपालन नहीं करने को लेकर एजेंसियों पर 2.56 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया। प्रदूषण निगरानीकर्ता आयोग ने शुक्रवार को एक बयान में 21 दिसंबर से तीन जनवरी के बीच कुल 569 टीमों ने 5,660 से अधिक निमार्ण कार्य एवं तोड़फोड़ गतिविधियों वाले स्थलों का औचक निरीक्षण किया। इसके अलावा, 87 स्थलों पर काम रोकने का भी आदेश दिया गया।

Next Story