Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Delhi Pollution : दिल्ली में रेड लाइट ऑन गाड़ी ऑफ अभियान का दूसरा चरण शुरू, गोपाल राय ने प्रदूषण के लिए बाहरी राज्यों को ठहराया जिम्मेदार

देश की राजधानी में बढ़ते प्रदूषण (Pollution) से निपटने के लिए केजरीवाल सरकार (kejriwal Govt.) ने शुक्रवार को दिल्ली में रेड लाइट ऑन कार ऑफ अभियान ( Red Light on Car Off Campaign) के दूसरे चरण की शुरुआत की।

Delhi Pollution : दिल्ली में रेड लाइट ऑन गाड़ी ऑफ अभियान का दूसरा चरण शुरू, गोपाल राय ने प्रदूषण के लिए बाहरी राज्यों को ठहराया जिम्मेदार
X

देश की राजधानी में बढ़ते प्रदूषण (Pollution) से निपटने के लिए केजरीवाल सरकार (kejriwal Govt) ने शुक्रवार को दिल्ली में रेड लाइट ऑन कार ऑफ अभियान ( Red Light on Car Off Campaign) के दूसरे चरण की शुरुआत की। यह अभियान अगले 15 दिनों तक 3 दिसंबर तक चलेगा। यह अभियान दिल्ली के 100 चौराहों ( ITO Crossroads) पर चलेगा और 2500 स्वयंसेवकों को तैनात किया जाएगा।

आईटीओ चौराहे से अभियान का उद्घाटन करते हुए पर्यावरण मंत्री गोपाल राय (Gopal Rai) ने कहा कि दिल्ली में 30 फीसदी प्रदूषण वाहनों से होने वाले प्रदूषण के कारण होता है। इसे कम करने में यह अभियान काफी सफल साबित हुआ है। दिल्ली में वाहनों से होने वाले प्रदूषण (Pollution) को कम करने के लिए वर्क फ्रॉम होम (Work from Home), बाहर से आने वाले ट्रकों पर रोक जैसे आपातकालीन कदम उठाए गए हैं।

उन्होंने कहा कि दिल्ली के अंदर हुए शोध सर्वेक्षणों से पता चलता है कि दिल्ली के अंदर 30 प्रतिशत प्रदूषण है। इसके अलावा 70 फीसदी प्रदूषण बाहर से आ रहा है। रेड लाइट ऑन कार ऑफ अभियान का उद्देश्य लोगों में जागरूकता पैदा कर वाहनों से होने वाले प्रदूषण को कम करना है।

गोपाल राय ने आगे कहा कि दिल्ली में एक व्यक्ति सुबह से शाम तक बहार निकल जाता है और लगभग 10 से 12 चौराहों को पार करता है। यदि आप किसी चौराहे पर दो मिनट के लिए भी रुकते हैं तो आप 20 से 25 मिनट तक अनावश्यक रूप से ईंधन जलाते हैं। इससे दिल्ली का प्रदूषण (Delhi Pollution) और बढ़ जाता है। इसे देखते हुए इस अभियान (Red Light on Car Off Campaign) का दूसरा चरण शुरू किया जा रहा है।

Next Story