Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Oxygen Crisis In Delhi: दिल्ली के इस अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी, खतरे में 50 लोगों की जान

Oxygen Crisis In Delhi: मालवीय नगर स्थित अस्पताल के एक अधिकारी ने कहा कि अस्पताल में करीब 80 मरीज हैं, जिनमें कोविड-19 के मरीज भी हैं। उन्होंने कहा कि इसमें 15 नवजात भी हैं। उन्होंने कहा कि वहां चार नवजातों समेत 50 लोग ऑक्सीजन सपोर्ट पर हैं। अस्पताल में तरल ऑक्सीजन के भंडार के लिए टैंक नहीं है और उसकी निर्भरता निजी विक्रेता से ऑक्सीजन सिलेंडरों की आपूर्ति पर है।

Oxygen Crisis In Delhi: दिल्ली के इस अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी, खतरे में 50 लोगों की जान
X

दिल्ली के इस अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी

Oxygen Crisis In Delhi दिल्ली में कोरोना (Corona Pandemic) के बेकाबू रफ्तार से आम लोगों का हौंसला टूटने लगा है। वहीं दिल्ली के अस्पतालों (Delhi Hospital) में ऑक्सीजन और दवाईयों की कमी के कारण लोगों की जान लगातार जा रही है। इसी बीच, दिल्ली के मधुकर रेनबो चिल्ड्रन अस्पताल (Madhukar Rainbow Children Hospital) ने रविवार को अपने यहां ऑक्सीजन (Oxygen Shortage) का भंडार समाप्त होने का संदेश दिया है और कहा है कि चार नवजातों समेत 50 लोगों की जान खतरे में है। मालवीय नगर (Malviya Nagar) स्थित अस्पताल के एक अधिकारी ने कहा कि अस्पताल में करीब 80 मरीज हैं, जिनमें कोविड-19 के मरीज भी हैं। उन्होंने कहा कि इसमें 15 नवजात भी हैं। उन्होंने कहा कि वहां चार नवजातों समेत 50 लोग ऑक्सीजन सपोर्ट पर हैं।

अस्पताल में तरल ऑक्सीजन के भंडार के लिए टैंक नहीं है और उसकी निर्भरता निजी विक्रेता से ऑक्सीजन सिलेंडरों की आपूर्ति पर है। अधिकारी ने कहा कि निरंतर आपूर्ति के अभाव में यह रोजाना की लड़ाई बन गई है। हमें हर दिन करीब 125 ऑक्सीजन सिलेंडरों की जरूरत पड़ती है। शनिवार को, कोविड-19 के 12 मरीजों की दक्षिण दिल्ली के बत्रा अस्पताल में मौत हो गई थी, जब दोपहर में करीब 80 मिनट तक अस्पताल के पास चिकित्सीय ऑक्सीजन नहीं थी। मृतकों में एक वरिष्ठ चिकित्सक भी शामिल हैं। कोरोना वायरस के मामले हर दिन बढ़ने से दिल्ली के कई अस्पताल ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहे हैं।

केंद्र ने दिल्ली का ऑक्सीजन कोटा बढ़ाकर 590 मिट्रिक टन किया

दिल्ली के अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी के बीच केंद्र ने शनिवार को राष्ट्रीय राजधानी का दैनिक ऑक्सीजन कोटा 490 मिट्रिक टन से बढ़ाकर 590 मिट्रिक टन कर दिया। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के मुताबिक, दिल्ली को ओडिशा के कलिंग नगर से अतिरिक्त 75 मिट्रिक टन और ओडिशा के झारसुगुडा की जेएसडब्ल्यू बीपीएसएल से 25 मिट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति की जायेगी। मंत्रालय के अनुसार नए आवंटन के साथ ही अब दिल्ली को प्रतिदिन 590 मिट्रिक टन ऑक्सीजन मिलेगी। हालांकि, राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों के चलते दिल्ली सरकार केंद्र से 976 मिट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन की मांग कर रही है।

Next Story