Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Delhi News: मुंडका में खराब सड़कों को लेकर लोगों का हल्लाबोल, रोहतक रोड के एक हिस्से को किया ब्लॉक, लगा 15 किलोमीटर का लंबा जाम

Delhi News: स्थानीय लोगों ने दावा किया कि राष्ट्रीय राजधानी में हाल के दिनों में हुई बारिश के कारण सड़कों की स्थिति और खराब हो गई है। पुलिस के मुताबिक, स्थानीय लोगों का समूह संबंधित सरकारी एजेंसियों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहा है और बेहतर सड़कों की मांग कर रहा है।

Delhi News: मुंडका पर खराब सड़कों को लेकर हल्लाबोल, रोहतक रोड के एक हिस्सा को किया ब्लॉक, लगा 15 किलोमीटर का लंबा जाम
X

मुंडका पर खराब सड़कों को लेकर हल्लाबोल

दिल्ली के मुंडका (Mundka) में सड़कों के खस्ता हाल से परेशान लोगों ने टीकरी बॉर्डर (Tikri Border) की ओर जाने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग पर बेहतर सड़कों की मांग को लेकर प्रदर्शन किया है। इसकी वजह से दिल्ली-हरियाणा राष्ट्रीय राजमार्ग (Rohtak Road) पर करीब 15 किलोमीटर लंबा जाम (Heavy Jam) लग गया। यहां से गुजरने वाले राहगीरों को घंटों जाम में फंसना पड़ रहा है। यह जानकारी दिल्ली ट्रैफिक पुलिस (Delhi Traffic Police) ने दी है।

रोहतक रोड के एक हिस्से को लोगों ने किया जाम

कई गांवों के करीब 70 लोगों ने रोहतक रोड के एक हिस्से को जाम कर दिया है। जिससे यातायात प्रभावित हो रहा है। लोगों का कहना है कि इलाके की कई सड़कें गड्ढों से भरी हुई हैं और खराब जल निकासी व्यवस्था के कारण हर बार बारिश होने पर कई दिनों तक यहां पानी भर जाता है। स्थानीय लोगों ने दावा किया कि राष्ट्रीय राजधानी में हाल के दिनों में हुई बारिश के कारण सड़कों की स्थिति और खराब हो गई है। पुलिस के मुताबिक, स्थानीय लोगों का समूह संबंधित सरकारी एजेंसियों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहा है और बेहतर सड़कों की मांग कर रहा है।

ग्रामीणों ने संबंधित सरकारी एजेंसियों को मौजूदा स्थिति के बारे में बताया

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि करीब 70 लोग आंदोलन का हिस्सा हैं। उन्होंने रोहतक रोड पर कैरिजवे के एक हिस्से को जाम कर दिया है। जिससे यातायात प्रभावित हुआ है। हम ग्रामीणों से बातचीत कर रहे हैं और मामले को सुलझाने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मानसून के दौरान, सड़कों पर जलभराव हो जाता है और उनकी हालत खराब हो जाती है। ग्रामीणों ने संबंधित सरकारी एजेंसियों को मौजूदा स्थिति के बारे में लिखा है। हाल ही में, हमने ग्रामीणों और दिल्ली जल बोर्ड के अधिकारियों के बीच एक बैठक आयोजित की है।

Next Story