Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सावधान! दिल्ली-NCR में बढ़ा डेंगू का प्रकोप, 100 से अधिक मामले सामने आए, 2018 के बाद से सबसे अधिक आंकड़े

डेंगू के मच्छर साफ और स्थिर पानी में पैदा होते हैं, जबकि मलेरिया के मच्छर गंदे पानी में भी पनपते हैं। डेंगू के मामले आम तौर पर जुलाई से नवंबर के बीच सामने आते हैं, लेकिन यह अवधि दिसंबर के मध्य तक भी बढ़ सकती है।उत्तरी दिल्ली नगर निगम की स्थायी समिति के अध्यक्ष जोगी राम जैन ने हाल ही में डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया की रोकथाम पर जन स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ एक बैठक भी की।

सावधान! बढ़ा डेंगू का प्रकोप
X

डेंगू का प्रकोप

दिल्ली-एनसीआर (Delhi NCR) में मच्छरों से फैलने वाली बीमारियों का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। इन बीमारियों में डेंगू और मलेरिया (Dengu And Malaria) के तीन साल में सबसे ज्यादा केस दर्ज किए गए है। इस साल दिल्ली में अब तक डेंगू के 124 मामले सामने आए (124 Cases Reported) हैं। वहीं दूसरी तरफ पूरी दिल्ली वायरल की चपेट में आ चुकी है। उत्तरी दिल्ली नगर निगम (NDMC) की स्थायी समिति के अध्यक्ष जोगी राम जैन (Jogi Ram Jain) ने हाल ही में डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया की रोकथाम पर जन स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ एक बैठक भी की। उन्होंने सरकारी भवनों, स्कूलों, कार्यालयों, सामुदायिक भवनों और औषधालयों के परिसरों में मच्छरों के प्रजनन की नियमित जांच करने के भी निर्देश दिए।

अगस्त महीने के दौरान ही दिल्ली में डेंगू के 72 केस दर्ज

रिपोर्ट के मुताबिक, इस साल अगस्त महीने के दौरान ही दिल्ली में डेंगू के 72 मामले सामने आए, जोकि अब तक सामने आए कुल मामलों का 58 प्रतिशत है। सितंबर महीने के शुरुआती चार दिनों में डेंगू का कोई मामला सामने नहीं आया है। डेंगू के मच्छर साफ और स्थिर पानी में पैदा होते हैं, जबकि मलेरिया के मच्छर गंदे पानी में भी पनपते हैं। डेंगू के मामले आम तौर पर जुलाई से नवंबर के बीच सामने आते हैं, लेकिन यह अवधि दिसंबर के मध्य तक भी बढ़ सकती है।

डेंगू से इस साल अब तक किसी मरीज की मौत नहीं

दिल्ली में डेंगू से इस साल अब तक किसी मरीज की मौत नहीं हुई है। नगर निगम की ओर से सोमवार को जारी रिपोर्ट के मुताबिक, इस साल 28 अगस्त तक मलेरिया के 57 मामले और चिकनगुनिया के 32 मामले भी सामने आ चुके हैं। आपको बता दें कि रिपोर्ट के अनुसार, एक जनवरी से चार सितंबर की अवधि के दौरान डेंगू के मामलों की संख्या 2018 के बाद से इस साल सबसे अधिक है। वर्ष 2018 में इसी अवधि के दौरान डेंगू के 137 मामले सामने आए थे। इसकी जानकारी दिल्ली नगर निगम के अधिकारी ने दी है।

नोएडा में डेंगू और मलेरिया ने दी दस्तक

उत्तर प्रदेश के कई शहरों के बाद अब नोएडा में भी डेंगू ने दस्तक दे दी है। अब तक चार बच्चों में डेंगू की पुष्टि हो चुकी है, हालांकि इनमें तीन स्वस्थ हो चुके हैं। वर्तमान में एक डेंगू पीड़ित बच्चे का सेक्टर-30 चाइल्ड पीजीआई में उपचार चल रहा है। उधर, मलेरिया और डेंगू के बढ़ते मरीजों को देखते हुए सीएमओ और सीएमएस भी सतर्क हो गए हैं। जिला अस्पताल और सीएचसी में डेंगू समेत विभिन्न बीमारी के मरीजों के लिए विशेष वार्ड तैयार किए गए हैं। जिला अस्पताल की सीएमएस डॉ. सुषमा चंद्रा ने बताया कि अस्पताल में डेंगू मरीजों के लिए दस बिस्तर का वार्ड तैयार किया गया है।

Next Story